26 को फिर इतिहास रचेगा इसरो

नई दिल्ली (21 सितंबर): भारत की इसरो सैटेलाइट प्रक्षेपण के इतिहास में एक और रिकॉर्ड बनाने जा रहा है।  यह इतिहास एक ही अंतरिक्ष यान से दो अलग-अलग अक्षांस पर सात उपग्रहों को उनकी कक्षा में पहुंचाने के साथ कायम हो जायेगा।

सब कुछ पूर्व निर्धारित योजना के अनुरूप रहा तो यह कारनामा 26 सितंबर 2016 को सुबह लगभग सवा नौ बजे इसरो के खाते में दर्ज हो जायेगा। इसरो 26 सितंबर को पीएसएलवी-सी 35 से 377 किलो ग्रामका स्कैटसेट-1 और सात अन्य सैटलाइट्स को अंतरिक्ष में लेकर जायेगाष स्कैटसेट-1 समुद्र और मौसम विज्ञान के अध्ययन के लिए छोड़ा जा रहा है। इसी अंतरिक्ष यान से अमेरिका, अलजीरिया और कनाडा समेत दो सैटेलाइट भारत ही की दो तकनीकि यूनिवर्सिटीज़ के हैं।