15 फरवरी को भारत रचेगा इतिहास, यूएस रूस और चीन काफी पीछे

नई दिल्ली (14 फरवरी): भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन एक बार फिर इतिहास रचेगा। जो काम दुनिया का कोई देश नहीं कर पाया वह 15 फरवरी को श्रीहरिकोटा स्थित अंतरिक्ष केन्द्र से इसरो करेगा। इसरो एक एकल मिशन में रिकार्ड 104 उपग्रहों का प्रक्षेपण करेगा।

यह अपने आप में एक विश्व रिकॉर्ड होगा, अभी तक किसी भी देश ने इतने सारे उपग्रहों का प्रक्षेपण नहीं किया है। अभी यह रिकॉर्ड रूस के नाम है, रूस ने 2014 में एक साथ 37 सैटेलाइट लांच किए थे।

सुबह 9:28 पर होगा प्रक्षेपण

इसरो ने कहा कि पीएसएलवी-सी37. काटरेसैट-2 सीरीज सैटेलाइट मिशन को 15 फरवरी, 2017 को श्रीहरिकोटा से भारतीय समयानुसार सुबह 9:28 बजे प्रक्षेपित किया जाना है। पोलर सैटेलाइट लांच वीकल अपनी 39वीं उड़ान में 103 सह-यात्री उपग्रहों के साथ पृथ्वी के अध्ययन के लिए 714 किलोग्राम का काटरेसैट-2 सीरीज उपग्रह का प्रक्षेपण करेगा। इन 103 अन्य उपग्रहों का कुल वजन करीब 664 किलोग्राम है।

इसरो ने कहा कि इन सह-यात्री उपग्रहों में 101 नैनो-सैटेलाइट शामिल हैं जिनमें से प्रत्येक इस्राइल, कजाखस्तान, नीदरलैंड, स्विट्जरलैंड, यूएई से और 96 सैटेलाइट अमेरिका के हैं, इसके अलावा, दो उपग्रह भारत के हैं।