इस वजह से नाकाम हुआ था ISRO का नैविगेशन सैटलाइट


नई दिल्ली (2 सितंबर): इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन यानी ISRO ने 1 सितंबर को देश के 8वें नैविगेशन सैटलाइट IRNSS-1H को अंतरिक्ष में लॉन्च किया था। लेकिन ये सेटेलाइट अपने लॉन्चिंग के कुछ देर बाद असफल हो गया था। ISRO ने लॉन्चिंग के नाकाम होने की वजहों को ढूढ़ निकालने का दावा किया है। ISRO का कहना है कि सेटेलाइट के ज्यादा वजन होने के कारण ये लॉन्चिंग फेल हुआ। ISRO के मुताबिक इस सेटेलाइट का वजन एक टन ज्यादा हो गया था। प्रॉजेक्ट से जुड़े वैज्ञानिकों ने भी ज्यादा वजन के असफलता का कारण माना है। 

आपको बता दें कि गुरुवार को लॉन्चिंग के कुछ देर बाद ही ISRO ने मिशन को असफल घोषित कर दिया था। इस वजन के कारण सैटलाइट की सफल लॉन्चिंग की ऊंचाई प्रभावित हुई और उसकी रफ्तार में प्रति सेकंड एक किलोमीटर की कमी आ गई। ISRO के मुताबिक एक टन ज्यादा वजन लेकर जा रहा था और इसके कारण हीट शील्ड इससे अलग नहीं हो पाया। इस कारण रॉकेट की गति भी प्रभावित हुई।