लैपटॉप से जहाज उड़ाने के IS के प्लान को इस्राइली जासूसों ने किया फेल


नई दिल्ली(13 जून): इस्राइली सरकारी के जासूसों ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट की बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया। दरअसल इस्लामिक स्टेट के बममेकर्स कमर्शल एयरक्राफ्ट को उड़ाने के लिए एक लैपटॉप कंप्यूटर बम बना रहे थे। आईएस के इस ऑपरेशन को इस्राइली सरकारी के जासूसों ने हैक कर लिया।


- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस्राइली साइबर ऑपरेटर्स ने आतंकवादी गुट की योजना का खुलासा करके बड़ा काम किया है।


- रिपोर्ट में बताया गया है कि इस्राइली हैकर्स ने महीनों पहले आईएस के सीरिया स्थित बममेकर्स सेल में सेंध लगाई। इसी का नतीजा था कि यूएस ने तुर्की, मिड्ल ईस्ट और नॉर्थ अफ्रीका के दस एयरपोर्ट्स से सीधी अमेरिका आने वाली उड़ानों में लैपटॉप एवं सेलफोन्स से बड़े अन्य इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस को ले जाने पर पाबंदी लगाई।


- खबर के मुताबिक, इस्राइली साइबर हैकरों की मदद से अमेरिका को पता चला कि आतंकवादी गुट एक ऐसा विस्फोटक बनाने की कोशिश कर रहे हैं जो लैपटॉप की बैटरी जैसा लगे और आसानी से एयरपोर्ट की एक्स-रे मशीन को चकमा दे सके।


- अमेरिकी इंटेलिजेंस को इस्राइल के योगदान का खुलासा उस समय हुआ जब अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने रूस के विदेश मंत्री को 10 मई की वाइट हाउस मीटिंग में विस्तार से बताया।