पीएम मोदी ने लिया इजरायल का नाम, जानें क्यों दुनिया इस छोटे से देश का मानती है लोहा...

नई दिली (18 अक्टूबर): मंडी ने पॉवर प्लांट का उद्घाटन करने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने भाषण में इजरायल का नाम लिया। पीएम ने भी कहा कि पहले इजरायल की सेना का दुनिया लोहा मानती थी। लेकिन शायद ही आपको पता होगा कि इजरायल दुनिया का एकमात्र ऐसा देश जो चारों तरफ से दुश्मनों से घिरा हुआ है, बावजूद इसके अगर इसकी ज़मी पर कोई नज़र भी उठाकर देख ले, तो वो उसकी आंखें नोच लेने की ताकत रखता है।

इस देश की ताकत का लोहा पूरी दुनिया मानती है इसलिए इसका नाम सुनते ही दुनिया के कई देशों के साथ ही आतंकी संगठन ISIS भी खौफ खाता है। इसका कुल क्षेत्रफल इतना है कि करीब तीन इजराइल को मिलाकर भी भारत के राज्य राजस्थान जितना बड़ा नहीं हो सकता।

इस देश की कुल आबादी महज 80 लाख बताई जाती है, यह देश चारों तरफ से कट्टर इस्लामिक मुस्लिम देशों से घिरा हुआ है, फिर भी किसी मुस्लिम देश या ISIS की मजाल नहीं है कि वो इजराइल की तरफ आंख उठाकर देख सके।

आखिर इजराइल की ताकत क्या है, ऐसा क्या है इस छोटे से देश इजरायल के पास, जिससे दुनिया के कई देश और ISIS भी खौफ खाता है तो आइए हम आपको रूबरू कराते हैं इजराइल की ताकत से।

1- इजराइल की ताकत इजराइल पहले किसी पर भी खुद हमला नहीं करता है लेकिन अगर उसको कोई छेड़ दे, तो ये देश उसे किसी भी कीमत पर छोड़ता नहीं है। इजराइल कभी किसी देश या संगठन को यह नहीं कहता कि हमारे देश में आतंकवादी घटनाएं या हमला मत कीजिए। बल्कि इजराइल यह कहता है कि अगर किसी ने हमारे देश के एक नागरिक को मारा तो हम उस देश में घुसकर उसके 1000 नागरिकों को मार देंगे।

2- इजराइल की ताकत है ‘मोसाद‘

इजराइल की खुफिया एजेंसी ‘मोसाद’ का तो ऐसा खौफ है कि किसी भी आतंकी संगठन या मुस्लिम देश के नेता इजराइल की तरफ आंख उठाकर नहीं देख सकते। मोसाद का मतलब है मौत, इसलिए मोसाद को दुनिया की सबसे खतरनाक एजेंसी कहा जाता है।

एक बार म्युनिक ओलंपिक में जिहादी तत्वों ने इजराइल के खिलाड़ियों की जर्मनी में हत्या कर दी थी और वो सभी दूसरे मुस्लिम देशों में जा छुपे थे। इजराइल की मोसाद के 30 जवानों ने उन देशों में घुसकर सभी जिहादियों को मार गिराया था, जिसमें मोसाद का एक सिर्फ एक जवान शहीद हुआ था।

3 – इजराइल की ताकत है उसकी सेना इजराइली सेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी सेनाओं में से एक मानी जाती है। यहां पर पुलिस के जवानों को विशेष ट्रेनिंग दी जाती है, इसके साथ ही इजराइल की सुरक्षा व्यवस्था भी बेहद मजबूत और अचूक मानी जाती है।

4 – दुनिया में चौथे नंबर की वायुसेना इजरायल की वायुसेना दुनिया में चौथे नंबर की वायुसेना है। सिर्फ अमेरिका, रूस और चीन ही उससे आगे है। इजरायली वायु सैनिक बेड़े में 250 एफ-16 फाइटर प्लेन हैं, जो किसी भी हमले की सूरत में न सिर्फ जवाब देने में सक्षम हैं बल्कि किसी भी दुश्मन को पल भल में तहस नहस करने की क्षमता रखते हैं।

5 – इजराइल में रॉकेट दागने का मतलब है मौत इजराइल दुनिया का इकलौता ऐसा देश है, जो पूरी तरह से एंटी बैलिस्टिक मिसाइल डिफेंस सिस्टम से लैस है। इजराइल के किसी भी हिस्से में रॉकेट दागने का मतलब है मौत, क्योंकि इजराइल की ओर जानेवाला हर मिसाइल रास्ते में ही दम तोड़ देता है।

6 – इजराइल के पास है अपना सैटेलाइट सिस्टम इजराइल दुनिया के उन 9 देशों की सूचि में शामिल है जिसके पास अपना सैटेलाइट सिस्टम है। इस सिस्टम का इस्तेमाल ड्रोन चलाने के लिए किया जाता है।

7 – गोरिल्ला युद्ध में पारंगत हैं सैन्य कमांडोज खबरों के मुताबिक आईएसआईएस के आतंकियों को अमेरिकी और ब्रिटिश सेना से लड़ने में कोई डर नहीं लगता, लेकिन इजराइल के सैन्य कमांडोज से गोरिल्ला युद्ध करना इस आतंकी संगठन के लिए बेहद मुश्किल है।