ये है 12 साल की सबसे छोटी कैदी, इस जुर्म में जाना पड़ा था जेल

हेब्रोन (25 अप्रैल): इजरायल जेल के अधिकारियों ने रविवार को साढ़े चार महीने की सजा काट चुकी सबसे छोटी बंधक को रिहा कर दिया। इस बंधक का नाम दीमा अल-वावी है।

फिलिस्तीन मुक्ति संगठन बंदी मामलों के आयोग के प्रमुख ईसा कॉरेक ने न्यूज एजेंसी सिन्हुआ को बताया कि इजरायल के अधिकारियों ने अल-वावी को वेस्ट बैंक शहर के पास जबरा क्रोसिंग पर रिहा कर दिया। इसके बाद अल-वावी होब्रोन के पास अपने घर चली गई जो दक्षिणी वेस्ट बैंक के पास है।

कॉरेक ने यहां के कानून पर आरोप लगाते हुए बताया कि अल-वावी बच्चों के खिलाफ इजरायल के अपराधों की गवाह है। बता दें कि इजरायल एक मात्र ऐसा देश है जहां नाबालिग और बच्चों की गिरफ्तारी का नियम लागू है।

इजरायली जेल से छूटने के बाद डरी हुई अल-वावी का उसके परिवार के सदस्यों और फिलिस्तीनी अधिकारियों ने घर पर स्वागत किया। हालांकि, इजरायल के जेल सेवा विभाग ने अल-वावी को छोड़ने की खबर की पुष्टि की लेकिन अपने इस कदम पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

क्या है मामला इजरायली फोर्स ने 12 साल की अल-वावी को उसके स्कूल ड्रेस में चाकू मिलने पर 9 फरवरी को गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद उसे साढ़े चार महीने की जेल की सजा सुनाई और 2,000 यूएस डॉलर का जुर्माना लगाया था। फिलिस्तीनी कैदी क्लब की रिपोर्ट के अनुसार वर्तमान में 400 से ज्यादा फिलीस्तीनी बच्चे इजरायल की जेलों में बंद हैं।