इजरायल देगा भारत को ये हथियार, चीन-पाकिस्तान की उड़ी नींद

नई दिल्ली (5 जुलाई): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इजरायल दौरे पर सारी दुनिया की निगाहें टिकी हैं। दोनों देशो के बीच उच्च तकनीक, व्यापार और कृषि के अलावा रक्षा संबंध पर समझौता होगा, जिससे चीन और पाकिस्तान की नींद उड़ी हुई है।

बताया जा रहा है कि भारत और इजरायल के बीच करीब 13 हजार करोड़ के रक्षा समझौते पर हस्ताक्षर होंगे। इस अहम रक्षा सौदे में भारत इजरायल से टैंकों को बर्बाद करने वाली एंटी टैंक मिसाइल स्पाइक और बराक 8 एयर डिफेंस सिस्टम के साथ मिसाइलों से लैस 10 हेरोन टीपी ड्रोन का सौदा कर सकता है।

- इजरायल की स्पाइक मिसाइलें दुश्मन के टैंकों पर अचूक निशाना लगाने के लिए जानी जाती है। 2 सालों के भीतर ये मिसाइलें भारत को मिल सकती हैं। यह सौदा करीब 3237 करोड़ रुपये का है।

- इसके अलावा भारत ने इजरायल से जमीन से हवा में मार करने वाली बराक मिसाइलों का सौदा किया है। ये सौदा करीब दो मिलियन डॉलर का है। बराक 8 मिसाइल को दुश्मन के विमानों, लड़ाकू हेलीकाप्टर, एंटी शिप मिसाइल और खतरनाक यूएवी ड्रोन को तबाह करने के लिए तैयार किया गया है। बराक मिसाइलें किसी भी हवाई खतरे से निपटने में सक्षम हैं।

- भारत को इजरायल से करीब 10 लड़ाकू हेरोन टीपी ड्रोन भी मिलने हैं। हेरोन टीपी ड्रोन मिसाइल से लैस होते हैं। इनकी तुलना अमेरिका के प्रिडेटर और रीपर ड्रोन से की जाती है। इजरायल के हेरोन टीपी ड्रोन लगातार 30 घंटे की उड़ने की क्षमता रखता है।

- मिसाइल से लैस होने वाले हेरोन टीपी ड्रोन खुफिया जानकारी भी जमा कर सकती है। साथ ही एक बटन के इशारे पर दुश्मनों का सत्यनाश कर सकता है।