जानें क्यों मोदी के इजरायल दौरे से डरा हुआ है पाकिस्तान ?



नई दिल्ली (4 जुलाई): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इजरायल दौरे पर हैं, जिसपर दुनियाभर की नजर लगी हुई है। खासकर मोदी के इस दौरे से पाकिस्तान बेहद ही डरा हुआ है। क्योंकि इजरायल के पाकिस्तान से अच्छे रिश्ते नहीं हैं।


इजरायल की सेना जिसे इजरायल डिफेंस फोर्स (आईडीएफ) के रूप में जाना जाता है, इजरायल छोटा देश होने के बावजूद अपनी सेना को लेकर बेहद सतर्क रहता है। इजरायल के ऊपर किसी देश का हमला करना आसान नहीं है क्योंकि यह चारों तरफ से एंटी बैलिस्टिक मिसाइल डिफेंस सिस्टम से लैस है।


IRON DOME


इजरायल मिलिट्री इंडस्ट्रीज का सबसे प्रसिद्ध हथियार आयरन डोम इंटरसेप्टर सिस्टम है। यह एक सी-रैम (काउंटर-रॉकेट आर्टिलरी मोर्टार) मिसाइल प्रणाली है जो ताइर इंटरसेप्टर मिसाइल का उपयोग अपने लक्ष्य को साधने के लिए करता है। यह मिसाइल इस्राइल को छोटे खतरों (रॉकेट, आर्टिलरी गोले, मोर्टार) से बचाने के लिए जरूरी है। इजरायल आयरन डोम प्रणाली द्वारा 87 फीसदी सफलता का दावा करता है। इस प्रणाली को किसी भी प्रकार के हवाई रॉकेट और तोपों के हमले के खिलाफ 100 फीसदी कवरेज प्रदान करने के लिए 2018 तक 'आयरन बीम' लेजर सिस्टम और 'डेविड स्लिंग' मिसाइल सिस्टम से लैस किया जाएगा।


ARROW 3 ABM


इजराइल द्वारा कई बैलिस्टिक मिसाइलों को बनाया गया है, लेकिन सबसे कम और शायद सबसे शक्तिशाली एरो 3 एंटी बैलिस्टिक मिसाइल (एबीएम) प्रणाली है। इस मिसाइल को अमेरिकी एमआईएम-104 पैट्रियट एबीएम सिस्टम की तुलना में अधिक प्रभावी बनाने के लिए विकसित किया गया था। एरो इजरायल के अस्तित्व के लिए बेहद महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह उनके शत्रुतापूर्ण पड़ोसियों द्वारा बैलिस्टिक मिसाइलों की सीमा से बचाता है। यह लक्ष्य सूचना प्रदान करने के लिए 'ग्रीन पाइन' रडार के साथ एकीकृत है। ग्रीन पाइन के पास लगभग 400 किमी की खोज और ट्रैक सीमा है जो आसानी से पूरे इजराइल को कवर कर सकते हैं।


MERKAVA 3/4 MBT


1980 के दशक की शुरुआत में मर्केवा टैंक को इजरायल की सैन्य आवश्यकताओं के अनुरूप डिजाइन किया गया था। यह डिजाइन पिछले कुछ वर्षों में काफी विकसित हुआ है और मर्केवा 3 और 4 इसका सबसे अच्छा रूप है। सबसे नया मर्केवा 4 है, जिसमें अपने पूर्ववर्तियों पर कई सुधार शामिल हैं। एमके 4 में 120 एमएम की एक SMOOTH GUN भी शामिल है। इसकी खास खूबी है कि यह एंटी टैंक मिसाइल 'लाहत' से लैस है जो इसे दुश्मन के टैंकों को दूरी से नष्ट करने की खूबी देता है।