...तो क्या बांग्लादेश में ऑफिशियल रिलीजन नहीं रहेगा इस्लाम?

ढाका : बांग्लादेश में रह रहे अल्पसंख्यकों पर लगातार हो रहे हमलों के कारण वहां इस्लाम को आधिकारिक धर्म से हटाया जा सकता है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बांग्लादेश की सुप्रीम कोर्ट ने भी इस बात के संकेत दिए थे और एक मामले की सुनवाई के दौरान इस्लाम को ऑफिशियल धर्म के तौर पर हटाए जाने पर सहमति जताई थी।

बता दें कि बांग्लादेश में 90% मुस्लिम, 8% हिंदू और 2% अन्य धर्मों को मानने वाले लोग हैं। लेकिन यहां बीते महीनों में हिंदू कम्युनिटी को लगातार निशाना बनाए जाने की खबरें मिलती रही हैं। गौरतलब है कि इसी महीने वहां एक पुजारी का सिर कलम कर दिया गया था। बांग्लादेश में इस्लाम 1988 से ऑफिशियल रिलीजन है।