महिलाओं के साथ ISIS के जुल्म की कहानी सुनकर कांप जाएंगे आप...

सिंजर (19 जनवरी): आईएसआईएस अपनी क्रूरता के लिए पूरी दुनिया में फेमस है। चाहे वो लोगों को जिंदा जलाना हो या फिर उन्हें रोकेट बांधकर उड़ाना, आईएसआईएस दर्दनाक मौत देने के लिए जाना जाता है। नया मामला यजीदी महिलाओं और बच्चियों के उतपीड़न का है। 

डेढ़ साल पहले इराक के उत्तर में बसे सिंजर पर हमला कर आईएसआईएस ने 5000 से अधिक यजीदी महिलाओं को बंधक बनाया था। इसके बाद इन महिलाओं पर क्रूरता की सारी हदें पार करते हुए खूब जुल्म ढाए। इन्हें सेक्स गुलाम के रूप में बेचा गया जिसके बाद इन्हें कई बार प्रताड़ना से गुजरना पड़ा। डेली मेल कि रिपोर्ट के अनुसार ISIS की क्रूरता की कहानी एक महिला ने सुनाई।

परला नाम की इस महिला ने आपनी कहानी बताते हुए कहा कि वह 21 साल की है। उसने 10 महीने कैद में गुजारे। इस दौरान उसे कई बार सेक्स गुलाम के तौर पर बेचा गया। कई बार तो उसे तोहफे के रूप में पेश किया गया। महिला ने बताया कि उसके साथ 400 और महिलाओं को बंधक बनाया गया। इस दौरान उसने कई बार भागने की कोशिश की लेकिन असफल रही।

रेप के बाद की जाती थी पिटाई परला बताती है कि शुरुआत में उन्हें एक खेत में रखा गया, जहां उन्हें 8 दिनों तक खाने को नहीं दिया गया। यह वही जगह थी जहां से रोज 4-5 लड़कियों को बेच दिया जाता था। मुझे जिसके हाथों बेचा गया वह रोज मेरा रेप करता था। वो कहता था कि इस तरह मैं तुम्हें मुस्लिम बना रहा हूं। इसके बाद वो मेरी खूब पिटाई करता था।

जब शादी से किया इनकार तो...

अपने साथ हुए दर्दनाक घटनाओं का जिक्र करते हुए परला कहती है कि एक बार उसे 40 साल के आदमी के हाथों बेंच दिया गया। वह रोज पीटता था। और शादी से मना करने पर रेप करता था। इस दौरान और लड़कियों को भी भूखा रखा जाता था। सउदी के मेरे मालिक ने कई बार मेरा रेप किया था और मैं प्रेगनेंट थी। उस हालत में भी मेरी पिटाई होती थी और मैं कई-कई दिनों तक भूखी रहती थी।'

मोसुल में मेरे मालिक के घर के सभी काम मैं करती थी। वह विवाहित था और उसकी पत्नी साथ में ही रहती थी लेकिन इसके बाद भी उसने कई बार मेरा रेप किया। आईएसआईएस के कब्जे में मेरे परिवार के पांच लोग अभी भी हैं और मुझे नहीं पता कि वो जिंदा भी हैं या नहीं।'