ISIS ने वीडियो जारी कर भारत पर हमले की धमकी दी, कहा आ रहे हैं बदला लेने

नई दिल्ली(21 मई): खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस ने वीडियो जारी कर भारत पर हमले की धमकी दी है। आईएस ने अरबी भाषा में 22 मिनट का वीडियो जारी कर कहा है कि वो बाबरी मस्जिद, कश्मीर, गुजरात और मुजफ्फरनगर की घटनाओं का बदला लेने के लिए आ रहे हैं।

ये वीडियो शुक्रवार को जारी किया गया है। इस वीडियो में वही आतंकी दिखाई दे रहे हैं जो भारत से भागकर आईएस में शामिल हुए हैं। वीडियो में पांच आतंकी नजर आ रहे हैं। आतंकी संगठन का यह पहला एेसा वीडियो है जिसमें सिर्फ भारत और साउथ एशिया को ही फोकस किया गया है। 

2014 में मुंबई से भागकर आईएस ज्वॉइन करने वाला इंजीनियर फहद तनवीर शेख भी वीडियो में नजर आता है। उसने अपना नाम अबु-अमर- अल हिंदी कर लिया है। वीडियो में शेख कहता है कि हम वापस आ रहे हैं लेकिन हाथ में तलवार लेकर। बाबरी मस्जिद को ढहाने के अलावा हमें कश्मीर, गुजरात और मुजफ्फरनगर में मारे गए मुसलमानों का बदला लेना है। 

इसमें वह थाणे के अपने दोस्त साहिम टंकी को याद करता भी नजर आता है। टंकी सीरिया में पिछले साल मारा गया था। इनका एक और साथी इस वक्त एनआईए की कस्टडी में हैं। मजीद आईएस छोड़कर भारत वापस आ गया था। और तब से सिक्युरिटी एजेंसी की कस्टडी में है। 

वीडियो में कुछ और शख्स भी नजर आ रहे हैं लेकिन इनकी पहचान नहीं हो सकी है। माना जा रहा है कि ये सभी भारतीय हो सकते हैं। वीडियो में इन जिहादियों ने खुद को हिंद वल सिंध का बताया है। माना जाता है कि आईएस में ये टर्म भारत और पाकिस्तान के लिए इस्तेमाल किया जाता है। 

वीडियो में हिंदुओं को गाय की पूजा करने वाला और मुसलमानों के खिलाफ हिंसा करने वाला बताया गया है। एक जगह मोहम्मद बिन कासिम (मुगल राजा) का भी जिक्र है। बता दें कि आतंकी उसे भारत में इस्लामिक रूल लागू करने वाला पहला राजा मानते हैं। 

ये वीडियो समुद्री किनारे पर शूट किया गया है और इसमें ज्यादातर इंटरव्यू हैं। इसमें भारत से भागे आतंकियों को जंग में हिस्सा लेते नहीं दिखाया गया है। वीडियो में कुल 6 शख्स नजर आते हैं जो नई सुबह का वादा करती एक एंथम गा रहे हैं। एक शख्स कहता है कि उसे 2008 के बाटला हाउस एनकाउंटर के बाद मुंबई छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा। वो कहता है कि बाटला हाउस में इंडियन मुजाहिदीन का कमांडर अातिफ अमीन मारा गया था। वीडियो में मुसलमानों के लिए कहा गया है कि क्या वो मुंबई, अहमदाबाद, सूरत और जयपुर में हुए ट्रेन ब्लास्ट्स को भूल गए? 

वीडियो में भारत के मुस्लिम नेताओं पर भी निशाना साधा गया है। कहा गया है कि वो उस सिस्टम के साथ हैं जो मुसलमानों के नरसंहार के लिए जिम्मेदार है। असदउद्दीन औवेसी और बदरुद्दीन अजमल के फोटोग्राफ भी नजर आते हैं। इन पर आरोप लगाया गया है कि वो गैर मुस्लिम नेताओं के साथ मिले हुए हैं। एक फोटोग्राफ में कांग्रेसी नेता मणि शंकर अय्यर एक हिंदू और एक मुस्लिम नेता के साथ नजर आते हैं। 

वीडियो में एक जगह कहा गया है कि उन लोगों की बात पर ध्यान मत दो, जो ये कहते हैं कि इस्लाम शांति का धर्म है। इस्लाम तो जंग का धर्म है।