'भारत में आतंक फैलाने के लिए नक्सलियों से संपर्क में था ISIS'

नई दिल्ली (20 जुलाई): राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के एक और नापाक मंसूबे का खुलासा किया है। एनआईए ने बताया है कि भारत में आईएस के गुर्गों ने आतंक फैलाने के तरीके समझने के लिए नक्सली गुटों से संपर्क किया। 

- नक्सलियों से फायरआर्म्स खरीदने की योजना बना रहे थे। - 16 लोगों के खिलाफ देश में कथित तौर पर आतंकी घटनाओं में शामिल होने के आरोप। - इन्हीं पर एक विशेष अदालत में आतंक रोधी जांच एजेंसी की तरफ से दायर किए पूरक आरोप में इसका जिक्र गया गया है।  - इन लोगों में भारत में आईएसआईएस के लिए भर्ती कराने वाला शफी अरमार भी है जो फरार है। - एनआईए ने अरमार और 15 अन्य पर भारतीय दंड संहिता, गैरकानूनी (गतिविधि) रोकथाम कानून और विस्फोटक सामग्री कानून के तहत आरोप लगाए हैं।  - अरमार के खिलाफ आईएसआईएस से जुड़े एक अलग मामले में कल मुंबई की अदालत में आरोपपत्र दाखिल किया गया।