इराकी सेना से डरकर भागा दुनिया का सबसे खुंखार आतंकी बगदादी!

नई दिल्ली ( 4 नवंबर ) : इराकी सेना ने मोसुल जबरदस्त हमला बोला है। ISIS के खिलाफ सेना ने आखिरी जंद छेद दी है। लेकिन एक खबर है जो इराकी सेना को निराश कर सकती है।  पश्चिचमी खुफिया एजेंसियों के सुत्रों ने दावा किया है, ISIS का सरगना अबु बकर अल बगदादी बहुत पहले ही मोसुल से भाग चुका है। यह बातें ब्रिटिश विदेश सचिव बोरिस जाॅनसन ने कहीं। उन्होंने कहा कि वह काफी लंबे समय से मोसुल में नहीं है। 

ब्रिटिश विदेश सचवि ने कहा, इस्लामिक स्टेट (ISIS) के आतंकी सरगना अबू बकर अल-बगदादी ने अपने समर्थकों और आतंकवादियों को मोसुल की लड़ाई से पैर पीछे नहीं हटाने को कहा है। गुरुवार को जारी किए गए अपने संदेश में बगदादी ने कहा कि इस निर्णायक युद्ध में वे अपने कदम पीछे नहीं खींच सकते हैं। बगदादी का यह संदेश ऐसे समय में आया है जब इराकी और अमेरिकी गठबंधन की फौज मोसुल में IS के खिलाफ अपने निर्णायक सैन्य अभियान में जुटे हुए हैं। 


बगदादी ने भरोसा जताया है कि IS के लड़ाके शिया मुस्लिमों, पश्चिमी 'जेहादियों' और अपने 'धर्म से हट चुके' तुर्की और सऊदी अरब जैसे सुन्नी देशों के खिलाफ जंग में जीत हासिल करेंगे। अपने इस संदेश में बगदादी ने मोसुल में लड़ रहे IS आतंकियों को 'कहर बरपाने' के लिए कहा है। यह ऑडियो रिकॉर्डिंग उसके समर्थकों द्वारा ऑनलाइन जारी किया गया है। इसमें बगदादी कह रहा है, 'इस्लामिक स्टेट आज जो जंग लड़ रहा है, उससे हमारा यह भरोसा कि यह लड़ाई जीत की शुरुआत है, और बढ़ गया है।'

पिछले करीब एक साल के दौरान सामने आया बगदादी का यह पहला ऑडियो संदेश है। आतंकियों के अलावा इसमें उसने मोसुल के निनेवेह प्रांत में रहने वाले लोगों को संदेश देते हुए कहा है, 'अल्लाह के दुश्मनों के साथ हो रहे जेहाद को कमजोर न करें।' अपने संगठन के आत्मघाती हमलावरों से अपील करते हुए बगदादी ने कहा, 'काफिरों की रातों को भी दिन में बदल दो। उनकी जमीन पर कहर बरपा दो और उनके खून की नदियां बहा दो।'