'सेक्स स्लेव बनने से मना करने पर 250 लड़कियों की हत्या कर चुका है IS'

नई दिल्ली (21 अप्रैल): आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) उत्तरी इराक में करीब 250 लड़कियों की सिर्फ इसलिए हत्या कर चुका है। क्योंकि इन्होंने सेक्स स्लेव बनने से मना कर दिया था।

'टाइम्स ऑफ इंडिया' की रिपोर्ट के मुताबिक, लड़कियों को आतंकियों के साथ अस्थाई तौर पर शादी करने के लिए आईएस आदेश देता रहा है। सेक्स स्लेव बनने से मना करने पर इराक के दूसरे सबसे बड़े शहर मोसुल में उन्हें मौत के घाट भी उतार देता है। कई बार तो उन्हें पूरे परिवार के साथ मार दिया जाता है।

कुर्दिश डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रवक्ता मामुज़ीनी ने बताया, आईएस ने मोसुल में कब्जा करने के बाद इसकी महिलाओं को छांट कर उन्हें जबरदस्ती इसके आतंकियों से शादी करने के लिए मजबूर किया। इसे अस्थाई शादी का नाम दिया। ऐसा करने से मना करने पर ऐसा दर्दनाक अंजाम किया जाता है। 

उन्होंने लंदन की कुर्दिश न्यूज एजेंसी 'अहलुलबायत' को बताया, "आईएस सेक्सुअल जिहाद के अभ्यास को अस्वीकार करने पर अब तक करीब 250 लड़कियों को मार चुका है। कभी कभी तो आईएस की बात ना मानने पर लड़कियों के परिवारों को भी मार दिया जाता है।"

इसके अलावा पैट्रियोटिक यूनियन ऑफ कुर्दिस्तान (पीयूके) पार्टी के अधिकारी घयास सुर्ची ने बताया, "आईएस के कब्जे वाले इलाकों में मानवाधिकारों का बड़े पैमाने पर उल्लंघन किया जाता है। खासकर महिलाओं के अधिकारों का। उन्हें उत्पाद के तौर पर देखा जाता है और उन्हें अपने लिए साथी चुनने का कोई अधिकार नहीं है।"

इसी तरह की हत्याएं पिछले साल अगस्त में हुई थीं। जिसमें आईएस लड़ाकों से सेक्स करने से मना करने पर मोसुल की 19 महिलाओं की हत्या कर दी गई थी। अगस्त 2014 में आतंकियों ने 500 यजीदी महिलाओं और लड़कियों का अपहरण कर उनका यौन शोषण किया था।