'भारत पर हमला करवाता रहेगा ISI'

नई दिल्ली(17 जनवरी):पाकिस्तान में किसी भी पार्टी की सरकार आए, वहां की खुफिया एजेंसी ISI भारत के खिलाफ प्रॉक्सी वॉर जारी रखेगी।  यह दावा जर्मनी के इतिहासकार हाइन किसलिंग ने अपनी किताब में किया है।

- ऐसा इसलिए क्योंकि ISI को हमेशा एक 'दुश्मन' चाहिए और कश्मीर मुद्दे को लेकर वह भारत को अपना दुश्मन बताता है।

- किसलिंग ने बीते 13 साल पाकिस्तान में गुजारे। इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी पर रिसर्च की।

- किसलिंग ने दावा किया कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI विश्वविद्यालय के छात्रों, लोकसेवा आयोग के लोगों और सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारियों की भर्ती करती है ताकि विभिन्न अभियानों को अंजाम दिया जा सके।

- उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी की 2004 में कर्मचारियों की संख्या तकरीबन 3500 थी, जबकि रॉ के कर्मचारियों की संख्या 7000 थी।

- किसलिंग ऑब्जर्वर रिसर्च फाउन्डेशन में अपनी किताब 'फेथ, यूनिटी, डिसिप्लिन (द आईएसआई ऑफ पाकिस्तान) की लॉन्चिंग के बाद समारोह में बोल रहे थे।

- उन्होंने बताया कि किसी भी सरकार के तहत आईएसआई कश्मीरी अलगाववादियों को समर्थन देना और पीओके में आतंकी कैंपों को बढ़ावा देना जारी रखेगी ताकि भारत के साथ हमेशा तनाव रहे। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि हमलों मे कमी आए लेकिन यह पूरी तरह कभी बंद नहीं होंगे।

- उन्होंने कहा कि उनकी पुस्तक आईएसआई और भारत की खुफिया एजेंसी रॉ पर उनकी पिछली पुस्तक का अद्यतन संस्करण है, जिसे 2011 में प्रकाशित किया गया था। किसलिंग साल 1989 से 2002 तक पाकिस्तान में रहे थे।