पाकिस्तानी की खुफिया एजेंसी ISI ने करवाया सीआईए पर हमला

नई दिल्ली (14 अप्रैल): सीआईए के अफगानिस्तानी कैंप पर पाकिस्तानी खुफिया ने एजेंसी आईएसआईने हमला करवाया था। ये जानकारी भी अमरीकी  अमरीकी नेशनल सिक्योरिटी अर्काइव के दस्तावेजों के मुताबिक पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने 2009 में अमरीकी खुफिया एजेंसी सीआईए के कैंप पर हुए हमले के लिए फंडिग की थी। अफगानिस्तान के चैपमैन कैप पर 30 दिसंबर 2009 को हुए हमलों में 7 अमरीकी एजेंट, एक कंट्रैक्टर समेत 3 अन्य लोगों की मौत हुई थी।

दस्तावेजों के मुताबिक इस हमले के लिए आईएसआई ने लगभग 2 लाख डॉलर दिये थे। यह हमला जॉर्डन के एक डॉक्टर और डबल एजेंट खलिल अबु-मुलाल अल-बलावी ने किया था। सीआईए इस डबल एजेंट का इस्तेमाल पाकिस्तान में ओसामा बिन लादेन और जवाहिरी को खोजने के लिए कर रही थी। लेकिन आईएसआई के प्रॉक्सी आतंकी संगठन हक्कानी ग्रुप ने इसे अपनी ओर मिला लिया था। अल-बलावी ने 30 दिसंबर 2009 को कैंप पर आत्मघाती हमला किया, जिसमें 10 लोगों की मौत हुई थी। इस खुलासे के बाद अमरीका और पाकिस्तान में तनाव हो सकता है।