16 साल अनशन में क्या थी मणिपुर की 'आयरन लेडी' की ताकत? जानें...

नई दिल्ली (10 अगस्त): मणिपुर की 'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला 16 साल के अनशन को तोड़ने के बाद अचानक फिर से सुर्खियों में आ गई हैं। इरोम इतने सालों तक इतना मुश्किल संघर्ष कैसे कर पाईं, और उनकी अच्छी सेहत लोगों के लिए हैरानी का सबब बना हुआ है। 16 सालों तक इरोम को जबरन नाक के जरिए फोर्सफीड किया जाता था। ऐसे में आइए आपको बताते हैं, इस संघर्ष के पीछे का राज़ क्या है?

- दरअसल इरोम अपनी इच्छा शक्ति और रोजाना योग के अभ्यास के जरिए इतने लंबे संघर्ष को जारी रख सकीं। - रिपोर्ट के मुताबिक, उनके सहयोगी और परिवार के सदस्यों के मुताबिक, इरोम ने 1998 में योग सीखा था।  - इसके दो साल बाद ही वह अनशन पर बैठ गईं। जो मंगलवार को जाकर खत्म हुआ। - शर्मिला के भाई इरोम सिंघजीत ने बताया, "ये उनकी इच्छाशक्ति और रोजाना योगाभ्यास की आदत थी, जिसने उन्हें शारीरिक रूप से फिट रखा।" - एक नवयुवती के तौर पर नब्बे के दशक में शर्मिला नेचर क्योर के विषय से काफी आकर्षित थीं। - उन्होंने एक कोर्स किया, जिसमें योग एक नैचुरल वैल-बींग के साधन के तौर पर शामिल था।