शर्मिला ने 16 साल बाद तोड़ा अनशन, बनना चाहती हैं सीएम

नई दिल्ली (9 अगस्त): अपनी चट्टानी इच्छाशक्ति के चलते मणिपुर की 'आयरन लेडी' ईरोम शर्मिला ने करीब 16 साल बाद मंगलवार को अपना अनशन खत्म किया। इसी के साथ उन्होंने चुनाव लड़ने की घोषणा की। मिली जानकारी के अनुसार, वह प्रदेश की सीएम बनना चाहती हैं, ताकि अपनी बातों को आसानी से संवैधानिक तरीके से लागू किया जा सके।

हालांकि ईरोम शर्मिला ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी कि वह अपनी पार्टी बनाएंगी या किसी दूसरी पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगी।

आपको बता दें कि शर्मिला मणिपुर से आर्म्ड फोर्सेस स्पेशल पावर एक्ट यानी AFSPA के विरोध में पिछले 16 सालों से लगातार अनशन कर रहीं थी।

- ईरोम शर्मिला ने अफस्पा हटाने की मांग लेकर सन 2000 में आमरण अनशन शुरू किया था। - ईरोम अब वह व्यवस्था का अंग बनकर इस कानून को हटवाने का प्रयास करेंगी। - इसके लिए ईरोम ने बाकायदा चुनाव लड़ने और जनाधिकारों के लिए संविधान के दायरे में संघर्ष का फैसला किया है। - ईरोम शर्मिला की नाक में नली पड़ी हुई है, जिसके जरिये उनके पेट में तरल खाना पहुंचाया जाता है। - 16 साल से उनकी जीभ ने किसी तरह का कोई स्वाद नहीं जाना है। - अदालत के आदेश से उन्हें अस्पताल के एक कमरे में पुलिस निगरानी में रखा गया है। - हर 15 दिन में उन्हें न्यायाधीश के समक्ष पेश कर उनकी स्वाथ्य और सुरक्षा की रिपोर्ट दी जाती है।