इरोम शर्मिला बड़ा ऐलान, चुनाव बाद शुरु करेंगी नई जिंदगी

नई दिल्ली (18 फरवरी): मानवाधिकार कार्यकर्ता इरोम शर्मिला मार्च में मणिपुर विधानसभा चुनाव संपन्न हो जाने के बाद शादी रचाने की योजना बना रही हैं। शर्मिला ने संवाददाताओं यह जानकारी दी। शर्मिला ने राज्य से सशस्त्र बल (विशेष शक्तियां) अधिनियम 1958 को निरस्त करने की मांग को लेकर चार नवंबर, 2000 से आमरण अनशन शुरू किया था। शर्मिला का गोवा के एक अनिवासी भारतीय डेसमंड कौतन्हो से लंबे समय से प्रेम प्रसंग चल रहा है।

 एक बार डेसमंड को अदालत में शर्मिला का हाथ पकड़े देखकर अदालत परिसर में गुस्साई महिला कार्यकर्ताओं ने उनकी पिटाई कर दी थी।एक महिला कार्यकर्ता ने कहा था, ‘मणिपुर में यह स्वीकार्य नहीं है।’ इस घटना के बाद से डेसमंड ने अदालत आना बंद कर दिया था। मणिपुर गैर स्थानीय लोगों के प्रवेश और उनके यहां रहने पर प्रतिबंध लगाने के लिए इनर लाइन परमिट सिस्टम को लागू करने की मांग करता रहा है। कुछ वर्गो ने डेसमंड की उपस्थिति और जेल में शर्मिला को फोन और लैपटॉप दिए जाने पर सवाल उठाए थे।