भारतीय सविता की वजह से आयरलैंड में बदला गर्भपात कानून

नई दिल्ली (27 मई): एक भारतीय की वजह से आयरलैंड में गर्भपात कानून बदल गया है। आयरलैंड में भारतीय दंतचिकित्सक सविता हलप्पनवार को 2012 में गर्भपात की इजाजत नहीं मिलने पर एक अस्पताल में उनकी मौत हो गई थी। जिसके बाद से ही आयरलैंड में गर्भपात कानून में बदलाव की मांग तेज हो गई थी। इसी कड़ी में 25 मई को यहां गर्भपात पर लगे प्रतिबंध को हटाने के लिए किए गए जनमत संग्रह कराए गए। इसमें 66.4 लोगों ने गर्भपात के पक्ष में मतदान किया। यानी 66 फीसद से ज्यादा लोग चाहते थे कि यह प्रतिबंध हटाया जाए जबकि 33 फीसदी लोग गर्भपात पर प्रतिबंध के पक्षधर थे।दरअसल सविता मां बनने वाली थी, इसी दौरान उसके पेट में दर्द होने लगा। सविता के इलाज के लिए उसका गर्भपात जरूरी था लेकिन देश की कानून की वजह से डॉक्टरों ने ऐसा करने से मना कर दिया। हालांकि सविता और उसके पति डॉक्टरों से कहा कि वो हिंदू हैं, लिहाजा उनपर कैथोलिक कानून थोपा नही जा सकता। लेकिन डॉक्टरों ने माफी मांगते हुए कहा हैकि यह एक कैथोलिक देश है और यहां के कानून के मुताबिक हम जीवित भ्रूण का गर्भपात नहीं कर सकते। और कुछ दिनों बाद सविता की मौत हो गई।