'अमेरिका ने किया मुसलमानों के खिलाफ जंग का ऐलान'

नई दिल्ली (18 जनवरी): इराक़ के सुन्नी फ़त्वा केन्द्र ने सचेत किया है कि अमरीकी दूतावास को तेल अवीव से बैतुल मुक़द्दस स्थानांतरित किया जाना, मुसलमानों के विरुद्ध युद्ध की घोषणा है।

इराक़ में सुन्नी समुदाय के फ़त्वा केन्द्र के प्रवक्ता शैख़ आमिर अलबयाती ने अमरीकी दूतावास को तेल अवीव से बैतुल मुक़द्दस स्थानांतरित किए जाने के बारे में  नये अमरीकी राष्ट्रपति की योजनाओं की निंदा करते हुए कहा कि यह कार्यवाही मुसलमानों के विरुद्ध युद्ध की घोषणा और बैतुल मुक़द्दस को ज़ायोनी शासन की राजधानी स्वीकार कराने का घिनौना षड्यंत्र है।

इराक़ के सुन्नी समुदाय के फ़त्वा केन्द्र के प्रवक्ता ने फ़ार्स न्यूज़ एजेन्सी से बात करते हुए कहाकि अमरीका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति का यह फ़ैसला बहुत ही मानमाना और भड़काऊ है जिसकी कड़े शब्दों में आलोचना की जानी चाहिए।उन्होंने उन देशों के विरुद्ध जो अपने दूतावास तेल अवीव से बैतुल मुक़द्दस स्थानांतरित करने का इरादा रखते हैं, अरब संघ की त्वरित और ठोस कार्यवाही की मांग करते हुए कहा कि अरब नेताओं को चाहिएकि वह एेसे देशों का बहिष्कार कर दें। इजराइल के सरकारी समाचार पत्र हारेट्ज़ ने अपने ताज़ा संस्करण में लिखा है कि नव निर्वाचित अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप पद ग्रहण करने के अगले ही दिन अर्थात 21 जनवरी को अमरीकी दूतावास को तेल अवीव से बैतुल मुक़द्दस स्थानांतरित करने की औपचारिक घोषणा कर देंगे।