ISIS में भर्ती होने पर 16 महिलाओं को फांसी, 1700 विदेशी महिलाएं गिरफ्तार

नई दिल्ली (27 फरवरी): इराक की एक अदालत में कम से कम 16 तुर्किश महिलाओं को मौत की सजा सुनाई गई है। एक न्यायिक प्रवक्ता ने रविवार को बताया इन महिलाओं को आतंकी समूह आईएस को ज्वाइन करने के आरोप में ये सजा सुनाई गई है।

अधिकारियों ने बताया कि अबतक करीब 1700 महिलाओं को आईएस की मदद के लिए पकड़ा जा चुका है। सेंट्रल क्रिमिनल कोर्ट के जज अब्दुल-सत्तार अल-बिर्कदार के मुताबिक, सजा का एलान तब किया गया जब ये साबित हो गया कि महिलाएं दाएश (ISIS) आतंकियों से जुड़ी हैं या फिर उन्होंने खुद आतंकियों से शादी और हमलों में मदद की बात कबूली। हालांकि, उन्होंने बताया कि कोर्ट के फैसलों पर अपील की जा सकती है। 

पिछले हफ्ते भी कोर्ट ने तुर्की की एक महिला को मौत की सजा सुनाई थी। वहीं 10 और देशों की महिलाओं को आजीवन कारावास की सजा दी गई थी। करीब एक महीने पहले एक जर्मन महिला को मौत की सजा सुनाई गई थी। वहीं, दिसंबर में एक रूसी महिला को फांसी की सजा सुनाई गई थी।