इराक में अगवा भारतीयों को छुड़ाने की कोशिशें तेज, वीके सिंह जाएंगे इरबिल

नई दिल्ली (10 जुलाई): इराक के शहर मोसुल के ISIS के चंगुल से आजाद होने के बाद भारत सरकार ने वहां अपने विभिन्न चैनल ऐक्टिव कर दिए हैं, ताकि वहां 39 लापता भारतीयों की मौजूदगी की पुष्टि की जा सके। इराक ने मदद का भरोसा दिया है और विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह इराक जा रहे हैं।

8 महीने के संघर्ष के बाद इराक के पीएम हैदर अल आब्दी ने मोसुल को आईएस के चंगुल से मुक्त कराने का ऐलान किया है। इससे उन 39 भारतीय कामगारों का पता चलने की उम्मीद जगी है, जिन्हें 2014 में बंदी बना लिया गया था।

विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह इराक के इरबिल के लिए रवाना होने वाले हैं। दरअसल इराक में भारत के 39 नागरिक लंबे वक्त से लापता हैं। खबर थी कि सभी भारतीयों को आतंकी संगठन आईएस के कब्जे वाले मोसुल में रखा गया था।

इराक में फंसे सभी 39 भारतीय पंजाब के अलग-अलग इलाकों के रहने वाले हैं। जानकारी के मुताबिक विदेश मंत्रालय लगातार इन 39 भारतीयों को लेकर प्रयास कर रही थी। अब वीके सिंह इराकी सेना और वहां के अधिकारियों की मदद से 39 भारतीयों को खोजने की कोशिश करेंगे।