मोसुल में ISIS का हुआ खात्मा, इराक के पीएम ने किया ऐलान

नई दिल्ली (9 जुलाई): दुनिया के सबसे खुंखार आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट(आईएसआईएस) का मोसुल में पूरी तरह से खात्मा हो गया है। इराकी सेना ने मोसुल में आईएसआईएस के खात्मे का ऐलान कर दिया है। यह स्थान कभी इस आतंकी संगठन का गढ़ हुआ करता था। लेकिन अब यहां से उसका पूरी तरह से अंत हो चुका है। आईएसआईएस अब मोसुल में पूरी तरह से खत्म हो चुका है। इराक के पीएम हैदर अल-अबदी ने इसका ऐलान किया है।


इराक के पीएम हैदर अल-अबदी रविवार को मोसुल पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अपनी सेनाओं को इस्लामिक स्टेट के खात्मे के लिए बधाई दी। पीएम की इस घोषणा को मोसुल शहर में आईएस पर जीत के तौर पर देखा जा रहा है। पिछले करीब 8 महीने के संघर्ष के बाद इराक को यह जीत मिली है। इस युद्ध में मोसुल के बड़े हिस्से को बर्बाद कर दिया था, वहीं हजारों आम नागरिक मारे गए और एक लाख से ज्यादा लोगों को अपने घरों को छोड़कर वहां से जाना पड़ा।


प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया, 'शसस्त्र सेनाओं के प्रमुख प्रधानमंत्री हैदर अल-अबदी मोसुल शहर पहुंचे। उन्होंने अपने सैनिकों और इराक के लोगों को इस जीत के लिए शुभकामनाएं दीं।' इराक सरकार ने अब तक इसमें मारे गए लोगों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। वहीं यूएस के डिफेंस डिपार्टमेंट ने बताया कि एलाइट काउंटर टेररिजम सर्विस, जिसने मोसुल में आतंकियों के खिलाफ युद्ध लड़ा, को 40 प्रतिशत नुकसान हुआ है।


अमेरिका मोसुल में आईएस समर्थित आतंकियों का सफाया करने वाले एक अंतरराष्ट्रीय संगठन का नेतृत्व करता है। इसमें आतंकियों पर हवाई हमले और जमीनी युद्ध भी शामिल हैं। मोसुल को आतंकियों के कब्जे से मुक्त कराए बगैर इराक से आईएस को खत्म करना असंभव था। इसी शहर के जरिए आईएस इराक के कई ग्रामीण और शहरी इलाकों पर नियंत्रण करता है।