ईरान ने दी मिसाइलों की रेंज बढ़ाने की धमकी, जद में होगा यूरोप

नई दिल्ली ( 26 नवंबर ): ईरान ने धमकी दी है कि वह अपनी मिसाइलों को अपग्रेड करेगा ताकि उनकी रेंज में यूरोप भी आ सके। ईरान के शक्तिशाली रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ने चेतावनी दी है कि यूरोप ने उनके देश को धमकाना बंद न किया तो वह अपनी मिसाइलों की क्षमता दो हजार किलोमीटर से ज्यादा करने को मजबूर होंगे। रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ईरान की इलीट फोर्स है और यह सर्वोच्च नेता अली खामेनेई के प्रति जवाबदेह है।

रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के उप प्रमुख ने यह चेतावनी फ्रांस की ओर से आए उस बयान के बाद दी है जिसमें कहा गया है कि ईरान के मिसाइल विकास कार्यक्रम से समझौता नहीं किया जाएगा। फ्रांस ने इस सिलसिले में सन 2015 में ईरान के साथ प्रमुख देशों के परमाणु समझौते की भी समीक्षा करने की बात कही है। फ्रांस इस समझौते में शामिल है। परमाणु समझौते से अमेरिका के अलग होने का प्रस्ताव वहां की संसद में लंबित है।

रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के उप प्रमुख ब्रिगेडियर जनरल हुसैन सलामी ने कहा कि हमारा मिसाइल कार्यक्रम पूरी तरह से रक्षात्मक है। इसलिए उस पर हम किसी से बात नहीं करेंगे। फिलहाल हम दो हजार किलोमीटर तक मार करने वाली मिसाइलें बना रहे हैं। ऐसा नहीं कि ईरान तकनीक का विकास न कर पाने से इससे ज्यादा क्षमता की मिसाइल नहीं बना रहा। अगर उसके लिए खतरा बढ़ा तो वह इससे ज्यादा दूरी तक मार करने वाली बैलेस्टिक मिसाइल भी बनाएगा। फिलहाल ईरान को यूरोप से कोई खतरा महसूस नहीं हो रहा। सलामी ने यह बात एक न्यूज एजेंसी को दिए साक्षात्कार में कही है।