नेपाल और भूटान के बाद इरान होगा ऐसा तीसरा देश जहां चलेगा भारतीय रुपया

नई दिल्ली (17 फरवरी): इरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी भारत के दौरे पर हैं। हसन रुहानी का ये दौरा कई मायने में ऐतिहासिक है। राष्ट्रपति रुहानी के दौरे के तीसरे और आखिरी दिन भारत और इरान के बीच कई महत्वपूर्ण समझौते हुए, जो आने वाले दिनों में दोनों देशों के संबंधों में मिल का पत्थर साबित होगा। 

प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति रुहानी के बीच व्यापार, सुरक्षा और संपर्क, रणनीतिक चाबहार पोर्ट पर भी चर्चा हुई। स्वास्थ्य और दवाइयों के क्षेत्र में भी सहयोग के मुद्दे पर भी दोनों देशों ने चर्चा की। खाड़ी देशों और पश्चिम एशियाई देशों में भारत के बढ़ते सहयोग और योगदान पर भी चर्चा की गई।

इतना ही नहीं सबकुछ ठीक रहा तो नेपाल और भूटान के बाद इरान तीसरा ऐसा देश होगा जहां भारतीय रुपया चलेगा। दोनों देशों में इस बात पर सहमति बन चुकी है कि भारतीय व्यापारी इरान में भारतीय मुद्रा में निवेश कर अपना व्यापार कर सकते हैं। इस कदम को दोनों देशों के संबंधों को मजबूत करने वाला कदम माना जा रहा है। अब नेपाल और भूटान के बाद ईरान तीसरा ऐसा मुल्‍क हो गया है जहां रुपये में निवेश किया जाएगा।