PAK सेना और नवाज सरकार तकरार, गले की हड्डी बनी जाधव की फांसी

तेहरान (10 मई): भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव की फांसी नवाज सरकार के गले की हड्डी बनती जा रही है। जाधव की फांसी को लेकर पाक सेना और नवाज सरकार में तकरार तेज हो गई है। जाधव की फांसी पर जहां अंतरराष्ट्रीय कोर्ट ने स्टे लगा दिया है वहीं पाक सेना अब नवाज सरकार पर जाधव की फांसी के मामले में न झुकने का दबाव बना रही है।


इसी सिलसिले में सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने  प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात की और कुलभूषण जाधव की मौत की सजा पर रोक लगाने वाले अंतरराष्ट्रीय न्याय अदालत यानी ICJ के आदेश पर चर्चा की। इसी बीच, पाकिस्‍तानी सेना ने कहा है कि वह कुलभूषण जाधव की मौत की सजा के मामले में अंतरराष्‍ट्रीय अदालत के सवालों का जवाब देने के लिए तैयार है। बताया जा रहा है कि बाजवा और नवाज में ये मुलाकात करीब 90 मिनट तक चली और इस दौरान शरीफ ने जाधव के मामले के संदर्भ में ताजा हालात पर जानकारी दी।


जाधव (46) को पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने पिछले महीने मौत की सजा सुनाई गई थी। भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ आईसीजे का रूख करते हुए आरोप लगाया था कि पाकिस्तान ने जाधव मामले में विएना संधि का उल्लंघन किया है।