IPL-9: बारिश से बाधित मैच में कोलकाता ने पुणे को 8 विकेट से हराया

नई दिल्ली(15 मई): इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के नौवें संस्करण में कोलकाता नाइट राइडर्स ने राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स को बारिश से बाधित मैच में आठ विकेट से हरा दिया। ईडन गार्डंस स्टेडियम में खेले गए लीग के 45वें मैच में कोलकाता को 66 रनों का संशोधित लक्ष्य मिला था जिसे उसे नौ ओवरों में हासिल करना था। यूसुफ पठान ने 18 गेंदों में नाबाद 37 रनों की पारी खेल टीम को पांच ओवर में ही जीत दिला दी।

इससे पहले, पुणे ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था। टीम ने 17.4 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 103 रन बना लिए थे, तभी बारिश शुरू हो गई जिसके बाद अंपायरों ने मैच रोकने का फैसला किया। काफी देर से बारिश के थमने के बाद अंपायरों ने मैदान का जायजा लिया और मैच को नौ-नौ ओवरों का करते हुए कोलकाता को 66 रनों का लक्ष्य दिया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता को रविचंद्रन अश्विन ने पहले ही ओवर में दो बड़े झटके दिए। उन्होंने पहले रोबिन उथप्पा (4) को पवेलियन भेजा, उसके बाद कप्तान गौतम गंभीर (0) को भी इसी ओवर में पगबाधा किया।

इसके बाद पठान और मनीष पांडे (नाबाद 15) ने कोई विकेट नहीं गिरने दिया और तीसरे विकेट के लिए 58 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को जीत दिलाई। पठान ने अपनी पारी में तीन छक्के और चार चौके लगाए। उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

बारिश से पहले, टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 8) के फैसले को पुणे के बल्लेबाजों ने गलत साबित किया। उस्मान ख्वाजा (21) के साथ पारी की शुरुआत करने उतरे टीम के सबसे सफल बल्लेबाज अंजिक्य रहाणे (2) आंद्रे रसेल की गेंद को भांप नहीं पाए और बोल्ड हो गए। रहाणे जब आउट हुए तब टीम का स्कोर 19 रन था।

रहाणे के जाने के बाद ख्वाजा भी ज्यादा देर मैदान पर टिक नहीं सके और शाकिब अल हसन की गेंद पर कैच आउट हो गए। जॉर्ज बेली (33) और सौरव तिवारी (13) ने तीसरे विकेट के लिए 41 रन जोड़ते हुए टीम का स्कोर 67 तक पहुंचाया। यहां तिवारी, अंकित राजपूत की गेंद पर गच्छा खा गए और विकेट के पीछे कैच दे बैठे।

बेली भी पीयूष चावला की गेंद पर स्टम्पिंग हो कर पवेलियन लौट गए। इरफान पठान (7) ने कप्तान धोनी को बचाने के लिए अपनी बली दे दी और रन आउट होकर पवेलियन लौट गए। 102 के कुल स्कोर तिसिरा परेरा (13) के आउट होने के साथ ही टीम ने अपने छह विकेट गंवा दिए थे। इसी दौरान बारिश ने खेल में खलल डाल दिया और मैच रोकना पड़ा।