भारतीय क्रिकेट से डरने लगे हैं एबी डीविलियर्स


नई दिल्ली(16 मई): दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज और इंडियन प्रीमियर लीग में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की ओर से खेलने वाले एबी डीविलियर्स ने माना है कि वह अब भारतीय क्रिकेट से भयभीत होने लगे हैं। उसका कारण भी उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग को बताया है जहां किसी भी ख़िलाड़ी से ज्यादा डीविलियर्स के समर्थक मौजूद होते हैं।


- डीविलियर्स का कहना है कि मुझे भारतीय क्रिकेट से डर लगने लगा है। वह दिन प्रति दिन मजबूत होता जा रहा है। जिसका अहम कारण है, इंडियन प्रीमियर लीग का मशहूर होना। आईपीएल ने भारत को बहुत से अहम ख़िलाड़ी दिए हैं। आईपीएल में आप देख सकते हैं कि युवा ख़िलाड़ी दबाव में भी अनुभवी खिलाड़ियों का मुकाबला करते नजर आते हैं। भारत में युवा खिलाड़ियों को बढ़ावा किसी और देश के मुकाबले ज्यादा और जल्दी मिल रहा है। हम कह सकते हैं कि आईपीएल के कारण ही भारत के क्रिकेट का भविष्य सही हाथों में है।


- आईपीएल 10 में हमे बहुत से युवा खिलाड़ियों का बेहतरीन खेल देखने को मिला है, जिसमें शामिल है राइजिंग पुणे सुपरजायंट के राहुल त्रिपाठी और शार्दुल ठाकुर, दिल्ली डेयरडेविल्स से ऋषभ पंत और संजू सैमसन, मुंबई इंडियंस के नितीश राणा और कुर्णाल पांड्या, किंग्स XI पंजाब से संदीप शर्मा और भी अन्य ऐसे ही युवा ख़िलाड़ी हैं, जिन्होंने अपनी प्रतिभा से क्रिकेट जगत में सभी का दिल जीता है। आने वाले समय में ये सब युवा ख़िलाड़ी भारतीय टीम खेलते नजर आ सकते हैं।


- एबी डीविलियर्स का कहना बिलकुल सही है, आईपीएल के कारण भारत का क्रिकेट सबसे पहले और ज्यादा विकसित हो रहा है। रविन्द्र जडेजा, अश्विन, रहाणे, सुरेश रैना, हार्दिक पांड्या जैसे ख़िलाड़ी भारत के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। यह सब ख़िलाड़ी आईपीएल के ही सितारों में से एक है। इन खिलाड़ियों ने आईपीएल से ही अपनी पहचान अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बनाई है और अब यह सब ख़िलाड़ी भारतीय टीम का अहम हिस्सा है।