आईफोन यूजर्स पढ़े यह खबर, हैकर्स ने लगाई सैंध

नई दिल्ली (27 अगस्त): अगर आपके पास आईफोन या ऐपल के कुछ अन्य प्रॉडक्ट हैं तो यह खबर आपके लिए है। इन प्रॉडक्ट में इस्तेमाल होने वाले ऑपरेटिंग सिस्टम की कुछ खामियों का फायदा उठाते हुए लोगों की जासूसी करने से जुड़ा मामला सामने आया है।

खबर के मुताबिक, जांच में इसके पीछे एनएसओ ग्रुप नाम की इजरायली कंपनी का हाथ होने की बात सामने आई है। यह कंपनी ऐसे सॉफ्टवेयर बनाती है जिनकी मदद से खुफिया ढंग से ऐपल प्रॉडक्ट यूजर्स के टेक्स्ट मेसेज, ईमेल्स पढ़े जा सकते हैं। कॉल या कॉन्टैक्ट लिस्ट ट्रैक की जा सकती है। आवाज रिकॉर्ड की जा सकती है, पासवर्ड चुराए जा सकते हैं और फोन कहां है, इस बात का भी पता लगाया जा सकता है।

मामला सामने आने के बाद ऐपल ने आईओएस का पैच्ड वर्जन 9.3.5 जारी किया। यूजर्स एक नॉर्मल सॉफ्टवेयर अपडेट के जरिए इस पैच को आप अपनी डिवाइस में इंस्टॉल कर सकते हैं। ऐपल की इन खामियों को दूर करने के 10 दिन पहले बिल मार्कजेक और जॉन स्कॉट रेल्टन नाम के दो रिसर्चरों और सैन फ्रैंसिस्को की एक मोबाइल सिक्यॉरिटी कंपनी ने इस ओर ध्यान दिलाया।