Blog single photo

INX मिडिया केस: सीबीआई ने पी चिदंबरम और कार्ति चिदंबरम के खिलाफ दायर की चार्जशीट

देश के पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम सहित 14 लोगों के खिलाफ सीबीआई ने आईएनएक्स मिडिया केस में चार्जशीट दिल्ली की अदालत में फाइल कर दी है।

प्रशांत देव, न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 अक्टूबर):  देश के पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम  और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम सहित 14 लोगों के खिलाफ सीबीआई ने आईएनएक्स मिडिया केस में चार्जशीट दिल्ली की अदालत में फाइल कर दी है। 21 अक्टूबर को अदालत इस पर संज्ञान लेगी। पूर्व केंद्रीय मंत्री, मशहूर कानूनविद  पलनिअप्पन चिदंबरम यानी पी चिदंबरम को आईएनएकेस मिडिया केस में  सीबीआई ने पद का दुरूपयोग  करकेभ्ष्टाचार करने के मामले में गिरफ्तार किया था।

सीबीआई सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक  सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में इस बात के सबूत दिए हैं  कि वित्त मंत्री रहते हुए 2007 में चिदम्बरम्ब ने घोटाला कैसे किया। सीबीआई  ने इस बात के सबूत जुटाए हैं कि  inx मीडिया केस में पद का दुरुपयोग करके  निजि फायदे के लिए  नियमों के खिलाफ विदेशी निवेश की अनुमति दी गई। जिसमें  पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति के खिलाफ भी सीबीआई ने सबूत जुटाए हैं।

सूत्रों के मुताबिक  सीबीआी ने इस बात के सबूत जुटा लिए है कि किस तरह से इस मामले में घूस की रकम चिदंबरम ने बेटे के जरिए ली।  क्योंकि चिदम्बरम्ब और उनके बेटे कार्ति के लिए समस्या  वहाँ खड़ी होती है जब inx मीडिया अपने एकाउंट बुक में  ये दिखता है कि 10 लाख रुपये की पेमेंट कार्थी चिदंबरम को  कंसलटेंसी फीस के रूप में  दी गई । जिसके एवज में वो कंपनी के लिए अपने पिता वित्तमंत्री से विदेशी निवेश की अनुमति दिलाएंगे।

सूत्र बताते है कि  आईएनएक्स मीडिया ने अपने एकाउंट में ये लिखा है कि 10 लाख की रकम fipb अप्रूवल की फीस के तौर पर कार्ति चिदंबरम को दी गई है। यही सीबीआई का  सबसे बड़ा सबूत हो सकता है।  क्योंकि 10 लाख की रकम वित्त मंत्री के बेटे ने ली, वो भी उस fipb के लिए जिसे उसके पिता ने दी है। तो यहां वित्त मंत्री का लाभ साबित होता है। 10 लाख की रकम तो ब्लैक एंड वाइट में है। लेकिन इसके पीछे किकबैक करोड़ों में है।  जो आरोप के मुताबिक बाप और बेटे ने मिलकर कमाया। और जिसकी गवाह inx मीडिया की करता धर्ता इंद्राणी मुखर्जी है। जो इस मामले में चिदंबरम के खिलाफ बयान दे चुकी है।

इसके अलावा  दूसरी  कई शैल कंपनियों के बारे में भी  चार्जशीट में आरोप लगाया गया है। जिसके सबूत सीबीआी अदालत में  में पेश करने का दावा करती है। जिसमे विदेश निवेश करने के एवज में पद का दुरुपयोग किया गया और लाभ कमाया गया।

Tags :

NEXT STORY
Top