#YogaDay2019 : पीएम मोदी से सीखे 'वज्रासन' के तरीके, पाचन और ब्लड सर्कुलेशन के लिए है बहुत ही फायदेमंद

PM Modi Vajrasana


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (13 जून): प्रधानमंत्री मोदी ने आज यानी 13 जून को अपने योगासनों की सीरीज में 9वां वीडियो जारी किया। आज के वीडियो में प्रधानमंत्री मोदी ने 'वज्रासन' के बारे में जानकारी दी है। इसके साथ ही उन्होंने इस आसन के फायदे और इससे जुड़ी सावधानियों के बारे में भी बताया है। इस एनिमेटेड वीडियो में 'वज्रासन' करने की हर एक बारीकी को काफी अच्छे से दर्शाया गया और साथ ही इसके फायदों के बारे में भी विस्तार से समझाया गया है। मोदी ने ट्वीट किया, वज्रासन करने के दो लाभ हैं, बेहतर ब्लड सर्कुलेशन और पाचन मंत्र। क्या आप इसका अभ्यास करते हैं। अगर नहीं, तो किस बात का इंतजार कर रहे हैं ?




क्या है वज्रासन ?


इस योग आसन का नाम इस आसन को करते समय बने आकार से निकलता है, हीरे का आकार या फिर वज्र का आकार, इसे वज्रासन का नाम देता है। वज्रासन में बैठकर आप प्राणायाम कर सकते हैं।



ऐसे करें वज्रासन...


- आसन (चटाई) बिछा कर सामान्य मुद्रा में बैठें


- अपने दोनों पैर सामने की और फैला दें। दाएं और बाएं पैर को घुटनें से मौड़ कर कूल्हे के नीचे लगा


- दोनों पैरों के अंगूठे एक दूसरे से छूने चाहिए


- दोनों हाथों के पंजों को अपनें घुटनों पर लगा दें


वज्रासन में बैठ कर शरीर आड़ा-टेड़ा ना करें, शरीर को सीधा रखें


- गहरी सांस लें। ध्यान रहे की वज्रासन करते वक्त नाक से ही सांस लेनी है। मुह से सांस अंदर ना जाए


- आंखें बंद कर सामान्य गति से सांस लेते रहें और समयान्तर पर सांस बाहर छोड़ते रहे


- तीन से पांच मिनट वज्रासन अभ्यास करने के बाद सामान्य मुद्रा में बैठ जाएं



वज्रासन के फायदे...


- पेट के निचले हिस्से में रक्त संचार को बढ़ता है जिससे पाचन में सुधार होता है


- खाना खाने के बाद वज्रासन में बैठने से पाचन अच्छा होता है


- अधिक वायु दोष या दर्द में आराम मिलता है


- पैर और जांघों की नसें मजबूत होती है


- घुटने और एड़ी के जोड़ लचीले होते हैं, गठिया वात रोग की संभावना काम होती है


- वज्रासन में रीढ़ कम प्रयास से सीधी रहती है


- इस आसान में प्राणायाम करना लाभकारी है।


आपको बता दें कि पीएम मोदी के योगासनों की यह एनिमेशन सीरीज है। इसे उनके आधिकारिक ट्विटर हैंडल @narendramodi से YogaDay2019 हैशटैग के साथ ट्वीट किया जा रहा है। गौरतलब है कि पीएम मोदी के योगासनों की यह सीरीज 5 जून से शुरू हुई थी। इसमें रोज एक आसन के करने का तरीका, उसके फायदे और सावधानियों के बारे में बताया जाता है। इस सीरीज में अब तक 9 आसनों के बारे में बताया जा चुका है। इससे पहले पीएम मोदी ने 'उष्ट्रासन', 'त्रिकोणासन', 'ताड़ासन', 'वृक्षासन', 'अर्ध चक्रासन', 'पादहस्तासन', 'भद्रासन' और  'वक्रासन' के फायदे बताए थे। इस सीरिज में पीएम मोदी रोज अलग-अलग योगासनों के बारे में विस्तार से बताते हैं। विश्व योग दिवस पर पिछले साल भी पीएम ने योगासन के कई वीडियो ट्वीट किए थे।