#YogaDay2019 : पीएम मोदी से सीखे 'पवनमुक्तासन' के तरीके, गैस से दिलाता है राहत

PM Modi Pawanmuktasan

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (16 जून): भारत समेत दुनियाभर में पांचवें अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस की तैयारियां जोरों पर है। इसी कड़ी प्रधानमंत्री मोदी 5 जून से लगातार हर दिन ट्वीट कर लोगों में योग के प्रति जागरूकता पैदा कर रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ट्वीटर के माध्‍यम से रोजाना लोगों एक योगासन के फायदे और उनके करने के तरीके बता रहे हैं। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री मोदी ने 14 जून को पवनमुक्‍तासन का वीडियो शेयर किया है, जिसमें इसके फायदे और करने के तरीके बता रहे हैं। इस आसन को करने से पेट की कई तकलीफों से राहत मिलती है और कमर व रीढ़ की हड्डी के लिए भी यह आसन फायदेमंद है। इसके नियमित अभ्यास से शरीर का लचीलापन बना रहता है। आप इस वीडियो को देखकर भी इसका अभ्यास कर सकते हैं।

क्या है पवनमुक्तासन ?

पवनमुक्त का अर्थ है पवन या हवा को मुक्त करना। इस आसन पेट की वायु निकालने में मदद करता है, इसलिए इस आसन का नाम पवनमुक्तासन है। इसे द विंड रिलीजिंग पोस्चर भी कहते हैं।

पवनमुक्तासन के लाभ...

- पीठ व पेट कि मासपेशियों को मज़बूत बनाता है

- हाथों व पैरों की मासपेशियों को मज़बूत बनाता है

- पेट एवं दूसरे इन्द्रियों की मालिश करता है

- पेट में से वायु को निकलता है और पाचन क्रिया में मदद करता है

- रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है

- पीठ व कूल्हे के जोड़ के हिस्से को तनाव मुक्त करता है

- पवनमुक्‍तासन आपके रक्‍त संचारण को बढ़ाकर आपकी नसों को उत्‍तेजित करता है

- आंतरिक अंगों की कार्यक्षमता में वृद्धि लाता है।

ऐसे करें पवनमुक्तासन

- सबसे पहले पीठ के बल फर्श पर लेट जाएं

- दोनों हाथों को कमर के पास रखें, फिर पैरों को मोड़ लें

- अब हाथ से पैर को पकड़कर सिर को उठाते हुए हाथ को सिर के पास ले जाएं

- कुछ समय के लिए इसी स्थिति में रहें, फिर सामान्‍य स्थिति में आ जाएं।

बरतें ये सावधानियां

- जिन लोगों को कमर दर्द की शिकायत हो, उन्हें यह आसन नहीं करना चाहिए

- घुटनों में तकलीफ हो, तो भी इसे करने से बचें

- हर्निया से प्रभावित लोगों को स्वस्थ होने के बाद ही यह योग करना चाहिए

- महिलाओं को पीरियड्स के दौरान इस आसन को करने से बचना चाहिए ।

आपको बता दें कि पीएम मोदी के योगासनों की यह एनिमेशन सीरीज है। इसे उनके आधिकारिक ट्विटर हैंडल @narendramodi से YogaDay2019 हैशटैग के साथ ट्वीट किया जा रहा है। गौरतलब है कि पीएम मोदी के योगासनों की यह सीरीज 5 जून से शुरू हुई थी। इसमें रोज एक आसन के करने का तरीका, उसके फायदे और सावधानियों के बारे में बताया जाता है। इस सीरीज में अब तक 10 आसनों के बारे में बताया जा चुका है। इससे पहले पीएम मोदी बज्रासन, 'उष्ट्रासन', 'त्रिकोणासन', 'ताड़ासन', 'वृक्षासन', 'अर्ध चक्रासन', 'पादहस्तासन', 'भद्रासन' और  'वक्रासन' के फायदे बताए थे। इस सीरिज में पीएम मोदी रोज अलग-अलग योगासनों के बारे में विस्तार से बताते हैं। विश्व योग दिवस पर पिछले साल भी पीएम ने योगासन के कई वीडियो ट्वीट किए थे।