#YogaDay2019: PM मोदी का मिशन योग दिवस, जानें- 'शलभासन' का लाभ

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (17 जून): अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को लेकर प्रधानमंत्री मोदी खासे उत्साहित हैं और सोशल मीडिया के जरिए योग के प्रति लोगों को लगातार जागरूक कर रहे हैं। इसी कड़ी प्रधानमंत्री मोदी ने आज   शलभासन का थ्री डी वीडियो ट्वीट किया है। पीएम मोदी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल @narendramodi से जारी किए गए वीडयो में पीएम मोदी ने शलभासन के लाभ, शलभासन कैसे करें, शलभासन की सावधानियां और शलभासन के लाभ के बारे में बताया। पीएम मोदी ने ट्वीट में एनिमेटेड वीडियो साझा करते हुए कहा कि मजबूत कलाई, पीठ की मांसपेशियों और स्पोंडिलिटिस की रोकथाम के लिए शलभासन का अभ्यास करना फायदेमंद है। आइए जानते हैं शलभासन कैसे करें।

क्या है 'शलभासन' ?

शलभासन का संस्कृत में मतलब होता है शलभ यानी टिड्डा। इस आसन में शरीर का आकार टिड्डे के समान हो जाता है। इसे करने से कमर और पीठ के मजबूत होते हैं और पाचन क्रिया भी बेहतर होती है।

शलभासन के फायदे...

- पीठ को मजबूत और लचीला बनाता है

- रीढ़ की हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है

- पाचन क्रिया को सुधारता है व पेट के अंगो को मजबूत बनाता है

- जांघों और पेट पर जमा चर्बी कम होती है और मोटापा दूर होता है

- हाथों और कंधों की मजबूती बढ़ती है

- गर्दन और कन्धों कि नसों को आराम मिलता है।

ऐसे करें 'शलभासन'

- पीठ के बल लेट कर ठोडी को फर्श पर टिकाएं

- यदि यह ज्यादा आरामदायक लगे तो सिर को पीछे मोड़ें और फर्श पर एक गाल टिका दें

- बाजुओं को पेट के नीचे रखें, हाथों को जांघों के नीचे तथा हथेलियां जमीन की ओर रखें

- पूरक करने के साथ हथेलियों को फर्श पर दबाएं, पांवों को सीधा रखें और जितना हो सके ऊपर उठायें

- श्वास रोक कर जब तक आरामदायक हो इस स्थिति में बने रहें। इसी तरह करते हुए प्रारंभिक स्थिति में आ जाएं।

'शलभासन' में बरतें ये सावधानी

- कूल्हों के दर्द की बढ़ी स्थिति व कमर दर्द वाले व्यक्ति को यह आसन वर्जित है

- दुर्बल हृदय, उच्च रक्तचाप, आँख के रोग से पीड़ित व्यक्ति इस आसन को करते वक्त श्वास रोकने की स्थिति से बचें

- गर्भवती, पेप्टिक अल्सर व हर्निया के रोगी इस आसन से बचें।

#YogaDay2019 पीएम मोदी के योगासन सीरिज का आज तेरहवां एनिमेटेड वीडियो जारी किया है। इस सीरिज में पीएम मोदी रोज अलग-अलग योगासनों के बारे में विस्तार से बताते हैं। इसे उनके आधिकारिक ट्विटर हैंडल @narendramodi से YogaDay2019 हैशटैग के साथ ट्वीट किया जा रहा है। गौरतलब है कि पीएम मोदी के योगासनों की यह सीरीज 5 जून से शुरू हुई थी। इसमें रोज एक आसन के करने का तरीका, उसके फायदे और सावधानियों के बारे में बताया जाता है। इस सीरीज में अब तक 13 आसनों के बारे में बताया जा चुका है। इससे पहले पीएम मोदी  'भुजंगासन', 'शशांकासन', 'पवनमुक्तासन, 'पवनमुक्तासन', बज्रासन, 'उष्ट्रासन', 'त्रिकोणासन', 'ताड़ासन', 'वृक्षासन', 'अर्ध चक्रासन', 'पादहस्तासन', 'भद्रासन' और  'वक्रासन' के फायदे बताए थे। इस सीरिज में पीएम मोदी रोज अलग-अलग योगासनों के बारे में विस्तार से बताते हैं। विश्व योग दिवस पर पिछले साल भी पीएम ने योगासन के कई वीडियो ट्वीट किए थे।