अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवसः सऊदी अरब से लेकर वेटिकन सिटी तक इस हाल मे हैं महिलाएं

नई दिल्ली (8 मार्च): कहते हैं कि् दुनिया ने बहुत तरक्की कर ली है। आदमी की पहुंच मंगल से भी आगे होगयी है...लेकिन मानसिकता अभी तक चौदहवीं सदी से भी पीछे की है। हर साल 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है, फिर भी कुछ देश ऐसे हैं जहां महिलाओँ के लिए बने काले कानून आज भी जस के तस हैं। आइये जानते हैं उन कानूनों और सामाजिक परंपराओँ को जो महिलाओँ को नरक सा जीवन जीने को मजबूर करते हैं:- 

1- सबसे पहले बात सऊदी अरब की यहां महिलाएं ड्राइविंग नहीं कर सकतीं। इसके अलावा यहां रेप जैसे अपराध में भी आरोपी को तभी सजा हो सकती है, जब आरोपी के खिलाफ कम से कम चार चश्मदीद हों। 

2- अर्कन्सास में व्हाइट वेडिंग गाउन में दूसरी बार महिलाओं के शादी करने पर मनाही है।

3- अल सल्वाडोर में मिसकैरिज के दर्द से कराहने महिलाओं को  जेल तक हो सकती है।\

4- मोरक्को में मजबूरन लड़कियों को उनके रेपिस्ट से शादी करनी पड़ती है।

5- अफ्रीकी देशों में आज भी बड़े पैमाने पर महिलाओं को खतना किया जाता है।

6- कट्टरपंथी ईरान में 9 साल की बच्ची को भी फांसी की सजा देने का प्रावधान है।

7- ओहायो  में औरत किसी मर्द की तस्वीर के सामने खड़े होकर कपड़े नहीं उतार सकती। इससे पहले तस्वीर को ढकना जरूरी है।

8- दुनिया के सबसे छोटे देश वेटिकन सिटी में महिलाओं को वोट करने का अधिकार नहीं है।