जल्द आएगा 200 रुपए का नोट, जानें इससे जूड़ी खास बातें

नई दिल्ली ( 26 जुलाई ): मोदी सरकार ने नवंबर 2016 में नोटबंदी की घोषणा की थी। जिसके बाद भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 2000 रुपये का नोट बाजार में उतारे थे। लेकिन अब आरबीआई (RBI) ने दो हजार रुपये के नोट की छपाई बंद कर दी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रिजर्व बैंक का ध्‍यान अब बाजार में छोटे नोटों की आपूर्ति करने पर है। एक अंग्रेजी अखबार में प्रकाशित खबर के मुताबिक आरबीआई ने पांच महीने पहले ही 2000 रुपये के नोट की छपाई बंद कर दी थी।

इस नोट को लॉन्‍च करने के महज चार महीने बाद तक ही छापा गया था। लेकिन बाजार में तेजी से इन नोटों का सर्कुलेशन बढ़ने पर रिजर्व बैंक ने इसकी छपाई बंद कर दी। अब तक 500 रुपये के करीब 14 अरब नोट छापे जा चुके हैं। आरबीआई अब छोटे नोटों की छपाई पर जोर दे रहा है। इसके तहत आरबीआई के मैसूर प्रेस में 200 रुपये के नोटों की छपाई शुरू भी हो गई है। सूत्रों के अनुसार, अगले महीने करीब एक अरब रुपये मूल्य के 200 रुपए के नोट बाजार में आने की उम्मीद है।

अभी तक नोटों की जो भी छपाई हुई है उनमें 90 फीसदी नोट 500 रुपए के हैं। रिजर्व बैंक की मैसूर प्रेस में 200 रुपये के नोटों की तेजी से छपाई चल रही है। मार्च में वित्‍त मंत्रालय से बातचीत के बाद आरबीआई ने 200 रुपये का नया नोट बाजार में लॉन्‍च करने की तैयारी की थी। ऐसा रिजर्व बैंक की तरफ से नकदी की कमी को दूर करने के लिए किया जा रहा है।

-200 रुपये के नए नोट के बाजार में आने से पहले एसबीआई अपने एटीएम रीकैलिब्रेट कर रहा है। दूसरी तरफ सरकार डिजीटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए 2000 रुपये के नए नोट की छपाई बंद कर रही है।

-भारतीय रिजर्व बैंक में नोट छपाई के मामले से जुड़े कुछ लोगों ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि भारतीय रिजर्व बैंक अगले महीने 200 रुपए के नोट जारी कर देगा। ऐसे में अब जल्द ही आप लोगों की जेब में 200 रुपए के नोट भी होंगे।

-200 के नोटों के बाजार में जल्द से जल्द लाने के उद्देश्य से भारतीय रिजर्व बैंक करीब 5 महीने पहले ही 2000 रुपए के नोटों की छपाई बंद कर चुका है। इस समय भारतीय रिजर्व बैंक का पूरा ध्यान 200 रुपए के नोट को लॉन्च करने पर है। 

-भारतीय रिजर्व बैंक को 200 रुपए के नोटों को लेकर एक खास प्रस्ताव भेजा गया है। इस प्रस्ताव के अनुसार 200 रुपए के नोट को एटीएम के जरिए बाजार में नहीं लाने का सुझाव दिया गया है। सुझाव दिया गया है कि इस नोट को सिर्फ बैंक के जरिए ही बाजार में लाया जाए। इस तरह से एटीएम को 200 रुपए के हिसाब से बनाने की परेशानी से भी मुक्ति मिल जाएगी।

-नोटबंदी के बाद सरकार ने 500 और 2000 रुपए के नोट जारी किए थे, लेकिन छोटे नोट जारी नहीं किए थे। इसी के चलते छोटे नोटों की किल्लत हो गई थी। 200 रुपए के नोट बाजार में आ जाने के बाद छोटे नोटों की किल्लत खत्म हो जाएगी।