लीबिया के सरकारी सैनिकों और आईएस आतंकियों में भीषण संघर्ष, 60 मरे

नई दिल्ली (23 जून): लीबिया में सरकार समर्थक सैनिकों और आईएस के आतंकियों के बीच चल रहे संघर्ष में कम से कम 60 लोगों के मारे जाने की खबर है। यह संघर्ष सिर्ते और त्रिपोली के पास चल रहा है। लीबिया में आईएस अपने अस्तित्व की आखिरी लड़ाई लड़ रहा है। सरकार समर्थक सैनिकों ने आईएस की मुश्कें उसी के गढ़ में कस दीं, लेकिन सीधी लड़ाई में नाकाम आईएस ने फिदायीन हमले बढ़ा दिए।

नतीजतन सरकारी फौजों को पीछे हटना पड़ा। मिसराता अस्पताल के प्रवक्ता अब्दुल अज़ीज़ ईसा ने बताया कि अकेले बुधवार को डेढ़ सौ से ज्यादा घायल उपचार के लिए पहुंचे। लीबिया में यूनाइटेड नेशनंस के दूत मार्टिन कोबलर ने कहा कि एक समय पर इतनी हिंसा से मानवीयता पर कलंक है। अमेरिकन मरीन कोर्प्स के लेफ्टिनेंट जनरल थॉमस वाल्डहाउज़र ने कहा है कि लीबिया में अमेरिका महज एक सलाहकार की भूमिका तक सीमित रहना चाहता है। फिर भी कुछ अमेरिकी सैनिक लीबिया में हैं,और इससे ज्यादा की वहां फिल्हाल आवश्यकता नहीं है। हालांकि कुछ समय पहले अमेरिकी एयरफोर्स ने आईएस के ठिकानों पर बमबारी की थी, लेकिन बाद में उसने अपनी भूमिका सीमित कर दी।