रिजर्वेशन की आड़ में कालाधन को सफेद करने वाले अब नहीं बच पाएंगे

नई दिल्ली ( 10 नवंबर ) : 500 और 1000 रपए के पूराने नोट बैन होने के बाद ब्लैकमनी और व्हाइट करने के लिए लोग रेलवे और प्लेट का टिकट कटा रहे हैं।  लोग रेलवे और हवाई यात्राओं की अडवांस बुंकिंग में लाखों रुपए के 500 और 1000 के खपा रहे हैं। आम दिनों के मुकाबले कई गुना हुई बुकिंग की खबर आने के बाद रेलवे और अन्य सरकारी एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। खबरों के मुताबिक विजिलेंस ने इस बारे में सरकार को सतर्क कर दिया है।

कैसे कर रहे हैं लोग खेल सरकार ने लोगों की परेशानी कम करने के लिए कहा था कि अस्पताल, रेलवे स्टेशन, हवाई अड्डों और कुछ अन्य सरकारी जगहों पर 72 घंटों के लिए पुराने नोट मान्य होंगे। इसका फायदा उठाकर कुछ लोग लाखों रुपए के रेलवे और हवाई टिकटों की अडवांस बुकिंग कराने लगे। यहां तक कि वेटिंग में भी ये टिकट बुक कराए गए। मकसद यह था कि बाद में इन्हें कैंसल कराके कुछ नाममात्र के नुकसान पर बाकी रकम मिल जाएगी। नोटों से भी छुटकारा मिल जाएगा। 

ब्लैक मनी को व्हाइट करने की इस तिकड़म की खबर जब मीडिया में आई तो रेलवे ने 5000 से ज्यादा के टिकट पर पैन कार्ड अनिवार्य कर दिया। इससे अगर कोई लाखों के टिकट बुक कराता है तो उसकी जानकारी भी टैक्स एजेंसियों को रहेगी और वे उस अकाउंट पर नजर रख सकेंगे।