इंश्‍योरेंस कंपनियों को फटकार, 30 दिन में पैसा नहीं दिया तो देना होगा ब्याज

नई दिल्‍ली (17 जुलाई): अगर आपने हेल्थ इंश्‍योरेंस कराया हुआ है और कंपनी आपका पैसा देने में देर लगाती है तो अब ऐसा नहीं होगा। भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण ने ऐसी बीमा कंपनियों को फटकार लगाते हुए 30 दिनों के भीतर क्‍लेम का निपटान करने आ आदेश दिया है।

यहीं नहीं भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण ने साफ कहा है कि अगर इस काम कंपनियां देरी करती हैं तो क्‍लेम की रकम पर उन्‍हें बैंकों की तुलना में दो फीसदी ज्‍यादा ब्‍याज देना होगा। भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण के अनुसार, यह कदम पॉलिसी धारकों के हितों की रक्षा के लिए उठाया गया है।

भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण ने बीमा कंपनियों को यह निर्देश भी दिया है कि पॉलिसी धारकों की शिकायत निपटाने के लिए उनकी एक उचित नीति होनी चाहिए ताकि इसके शीघ्र और प्रभावकारी तरीके से सुलझाया जा सके। बीमा कंपनियों को अपनी वेबसाइट पर सर्विस के मानदंड और शिकायत पर सुनवाई की अवधि भी बतानी होगी जो उनके बोर्ड से मंजूर है।