'ब्लू व्हेल गेम' चैलेंज के लिए छत से कूदकर जा रहा था आत्महत्या करने, ऐसे बची जान

नई दिल्ली (11 अगस्त): ब्लू व्हेल गेम की वजह से देशभर में दहशत का माहौल है। भारत में भी ऑनलाइन गेम ब्लू वेल की लास्ट स्टेज को पूरा करने के बाद आत्महत्या के केस बढ़ते जा रहे हैं। मुबंई में एक छात्र ने इस गेम का चैलेंज पूरा करने के लिए छत से कूदकर आत्महत्या कर ली थी। गुरुवार को मध्य प्रदेश के इंदौर में इसी तरह का मामला सामने आया है। यहां ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ को खेलते हुए एक 13 साल के छात्र ने अपने स्कूल की तीसरी मंजिल से कूदने की कोशिश की। वह रेलिंग पर चढ़कर कूदने ही वाला था कि उसके दोस्तों ने उसे पीछे से उसे खींच लिया और शोर मचा दिया। तभी मंजिल पर क्लास में मौजूद स्पोर्ट्स एवं फिजिकल ट्रेनर ने ये देखा तो वे भी दौड़ पड़े।

खबरों के मुताबिक कक्षा सात का छात्र राजेंद्र नगर के चमाली देवी पब्लिक स्कूल में पढ़ता है। बृहस्पतिवार को वह स्कूल की तीसरी मंजिल की बालकनी की रेलिंग पर चढ़ गया, लेकिन उसी दौरान स्कूल के अन्य छात्रों ने उसे वहां से उतार लिया। इसके बाद छात्रों ने शिक्षकों को इस बारे में जानकारी दी तो उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दे दी। 

प्रारंभिक जांच में पाया गया बच्चा पिछले कई दिनों से अपने पिता के फोन में ब्लू व्हेल गेम खेल रहा था। पुलिस छात्र को काउंसलिंग के लिए किसी मनौवैज्ञानिक के पास ले जाने पर विचार कर रही है। स्कूल की प्रधानाचार्या संगीता पोद्दार ने कहा कि जब उसके आत्महत्या के प्रयास को विफल कर दिया गया तो वह काफी डर गया था। उसने शिक्षकों को बताया कि पिछले कुछ दिनों से वह ब्लू व्हेल गेम खेल रहा है।