30 साल तक देश की सेवा करने के बाद आज रिटायर होगा 'विराट'

मुंबई(6 मार्च): करीब 30 साल देश की समुद्री-सीमाओं की रखवाली करने के बाद INS विराट सोमवार को रिटायर हो जाएगा। आज एक कार्यक्रम में उसे विदाई दे जाएगी।

- यह वॉरशिप 1987 से नेवी में अपनी सर्विस दे रहा है। विराट 27 बार दुनिया का चक्कर लगा चुका है।

- INS विराट 12 मई 1987 को नेवी में कमीशंड हुआ था। यह शिप की पंच लाइन " जलमेव यस्य, बलमेव तस्य' है, जिसका मतलब जिसका समंदर पर कब्जा है वही सबसे बलवान है।

- इस लाइन को सबसे पहले छत्रपति शिवाजी महाराज ने अपनाया था।

- दुनिया में सबसे लंबे समय तक सर्विस में रहने की वजह से इस वॉरशिप का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है।

- समारोह में विराट पर काम कर चुके कई अधिकारी शामिल होंगे। जिनमें ब्रिटेन की नेवी के कुछ पूर्व अफसर भी हैं।

- इस दौरान आर्मी पोस्टल सर्विस की ओर से विशेष कवर (लिफाफा) और विराट के इतिहास पर एक किताब भी जारी की जाएगी।