आम आदमी को बड़ा झटका: 39 महीने के अधिकतम स्तर पर महंगाई

नई दिल्ली (14 मार्च): आने वाले समय में आम आदमी को एक बड़ी झटका लग सकता है, क्योंकि फरवरी में थोक महंगाई दर (WPI) 6.55 फीसदी पहुंच गई, जो कि लगभग 39 महीनें का उच्चतम स्तर है। जनवरी में महंगाई दर 5.25 फीसदी रही थी।

खाने-पीने की चीजों से लेकर फ्यूल और पावर सभी की महंगाई दर बढ़ी है।

- फलों की थोक महंगाई दर 7.14 फीसदी रही।

- मोटे अनाज, चावल, फ्रूट्स, मछली, अंडा और मीट की कीमतें बढ़ी हैं।

- सब्जियों और प्‍याज की थोक कीमतें बढ़ी हैं लेकिन यह अभी भी यह शून्‍य से नीचे हैं।

- फ्यूल और पावर की महांगाई दर 18.14 फीसदी से बढ़कर 21.02 फीसदी रही है।

- फरवरी में प्राइमरी आर्टिकल्स की महंगाई दर भी बढ़ी है।

- प्राइमरी आर्टिकल्स की महंगाई दर 1.27 फीसदी से बढ़कर 5 फीसदी रही है।

मैन्यूफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स की महंगाई घटी

- मैन्यूफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स की महंगाई दर घटी है। मैन्यूफैक्चर्ड की महंगाई दर 3.99 फीसदी से घटकर 3.66 फीसदी हो गई है।

- फरवरी में कोर महंगाई की दर 2.7 फीसदी से गिरकर 2.4 फीसदी हो गई है।

- दिसंबर की थोक महंगाई दर 3.68 फीसदी से संशोधित होकर 3.39 फीसदी हो गई है।