'ज्यादातर बिजली चोरी में उद्योग और बड़े लोग शामिल'

नई दिल्ली (16 जून): केंद्रीय ऊर्जा राज्यमंत्री पीयूष गोयल ने बिजली की चोरी के मुद्दे पर गंभीरता जताते हुए ऐसा करने वाले को चेतावनी दी है। गोयल ने गरीबों का बचाव करते हुए कहा है कि उद्योगों के साथ बड़े लोग बिजली चोरी में शामिल हैं न कि गरीब। 

मीडिया में आई रिपोर्ट के मुताबिक, पीयूष गोयल राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के बिजली मंत्रियों के दो दिवसीय सम्मेलन में बोल रहे थे। जिसमें उन्होंने कहा, "लाइनमैन तथा विभाग के अधिकारियों को रिश्वत की पेशकश की जाती है और हो सकता है इसमें राजनेता भी शामिल हों।" उन्होंने बिजली चोरी में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की और कहा कि इससे आम लोगों को लाभ होगा।

मंत्री गोयल ने कहा, "मैं यह जिक्र करना चाहूंगा कि यह मामला गरीब लोगों से जुड़ा नहीं है। मत सोचिये कि अगर आपने बिजली चोरी के खिलाफ कार्रवाई की तो आप राजनीतिक रूप से प्रभावित होंगे। गरीब लोग बिजली चोरी में शामिल नहीं हैं। किसान यह काम नहीं करता क्योंकि उसे पहले से सस्ती बिजली मिल रही है।"

गोयल ने कहा, ‘‘अधिकतम चोरी उद्योग के क्षेत्र में है और बड़े लोग भी इसमें शामिल है। मुझे लगता है कि चोरी रोकने में राजनीतिक लाभ है क्योंकि इसके जरिये आप आम लोगों के बिजली बिल में कमी लाकर उन्हें लाभ पहुंचाएंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर आपने ईमानदारी से काम किया और आप लोगों को यह बताने में कामयाब रहे कि आप उनके लाभ के लिये कुछ कर रहे हैं, तब मैं आपको आश्वस्त कर सकता हूं कि राजनीतिक रूप से बिजली चोरी रोकने में काफी लाभ है।’’