बिना गोली चलाए, पाकिस्तान को तबाह करने की तैयारी में भारत!

नई दिल्ली(26 सितंबर): पाकिस्तान की नापाक हरकतों का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारत हर विकल्प पर विचार कर रहा है। इसी के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 1960 में हुई सिंधु जल समझौता पर एक समीक्षा बैठक बुलाई है।

पीएम मोदी ने जल संसाधन और विदेश मंत्रालय के अधिकारियों की बैठक बुलाई है। बैठक में इस समझौते से जुड़े फायदे और नुकसान पर चर्चा की जाएगी।

अगर सिंधु जल समझौता टूटता है तो पाक पर इसका क्या असर पड़ेगा...

अगर भारत पाकिस्तान को जल आपूर्ति बंद कर देता है तो इसका सीधा असर पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति पर पड़ेगा। पानी बंद कर देने से पाकिस्तान की खेती पर इसका बुरा असर पड़ेगा। उसकी खेती पूरी तरह से नष्ट हो जाएंगी क्योंकि भारत के पश्चिम में अरावली पर्वत के कारण पाकिस्तान में बारिश कम होती है। खेतों में पानी के लिए वह सिंधु से निकालने वाली नदियां और नहरों पर निर्भर है। सिंधु हिमालय के निकलकर भारत से होकर पाकिस्तान में प्रवेश करती है। इसका ज्यादातर मैदानी हिस्सा पाकिस्तान में पड़ता है।