इंदौर-भोपाल रोड़ पर टोल प्लाजा पर गुंडागर्दी, 40- 50 लोगों ने टोल प्लाजा को किया तहस नहस

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (20 जनवरी): देश में टोल नाकों पर तोड़फोड़ आम बात हो गई है। ताजा मामला इंदौर-अहमदाबाद नेशनल हाईवे पर बने टोल प्लाजा की है। कई दर्जन नकाबपोश लोगों को इस टोल प्लाजा पर इस कदर तबाही मचाई कि टोल कैबिन को बुरी तरह से ध्वस्त कर दिया। शीशे चकनाचूर हो गए..टॉल पर लगे ऑटोमेटिक इक्विपमेंट्स खराब कर दिए गए। लाठी-डंडों से कैमरों को तोड़ दिया गया। भीड़ टोल बैरियर्स को उखाड़ ले गई। हालांकि इस तोड़फोड़ में टोल पर मौजूद स्टाफ मैंबर्स को चोट नहीं आई। टोल प्लाजा पर लगे सीसीटीवी की तस्वीरें सामने आने के बाद पुलिस ने 40 से 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर ली है। हमलावरों तक पहुंचने के लिए पुलिस स्थानीय इलाकों में दबिश दे रही है।मैनेजर राम बाबू का कहना है कि हम पर ग्रामीणों ने अचानक हमला कर दिया। टोल पर तोड़ फोड कर दी। हम कुछ समझ पाते इसके पहले काफी नुकसान हो गया था। बेटमा पुलिस को सूचना दे दी थी। पुलिस करीब एक घंटे के बाद पहुंची।

गौरतलब है कि ये टोल नाका दिसम्बर 2018 में ही शुरू हुआ है। टोल दरों को लेकर तभी से इसका विरोध किया जा रहा है। लोकल वाहन मालिक लंबे समय से टोल दरों में रियायत की मांग कर रहे थे। पुलिस को शक है कि ये तोड़फोड़ स्थानीय लोगों के विरोध का ही नतीजा हो सकती है । बताया जा रहा है कि पिछले दिनों दिल्ली में केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से बीजेपी के एक प्रतिनिधिमंडल ने भेंटकर घाटाबिल्लौद के पास टोल नाके कर्मचारियों द्वारा की जा रही अत्यधिक वसूली की शिकायत की थी। मंत्री गड़करी ने जांच के बाद कार्रवाई का आश्वासन दिया था। स्थानीय लोगों की शिकायत है कि उसके बाद भी यहां कुछ नहीं बदला।