सालाना 2000000000 की कमाई करने वाले इस शख्स को ढूढ़ रही थी 5 राज्यों की पुलिस

देवेंद्र भामदरे, इंदौर (22 सितंबर): इंदौर क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे ऑनलाइन सट्टा किंग को गिरफ्तार किया है जिसे 5 राज्यों की पुलिस लंबे असरे से तलाश कर रही थी। पुलिस ने इस पर 20 हजार का इनाम भी घोषित कर रखा था। लंदन से एमसीए करने के बाद देश लौटकर अचल चौरसिया पर्ची सट्टे का काम करने वाले अपने पिता रमेश चौरसिया के साथ मिलकर गेम किंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कंपनी बनायी और ऑनलाइन सट्टे का काम शुरू कर दिया।

उसने सट्टे का एक ऐसा गेम बनाया जिसे खेलने वाले का हारना लगभग तय रहता था। अचल ने एक कॉर्पोरेट जैसे अपने गेम को देश के अधिकतर प्रदेशों में अपना नेटवर्क फैला लिया। कुछ ही सालों में उसके इस गेम का टर्नओवर 200 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष हो गया। डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र के मुताबिक इस गेम को खेलने वाले एक व्यक्ति ने शिकायत की थी, जिसके बाद क्राइम ब्रांच ने कार्रवाई करते हुए इंदौर में गेम चलाने वाले सात लोगों को गिरफ्तार किया था। लगभग ढाई साल पहले ही उसके खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया था, लेकिन वह पुलिस के कभी हाथ नहीं लगा।

डीआईजी मिश्र के मुताबिक उसके खिलाफ मप्र, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र के लगभग डेढ़ दर्जन शहरों में प्रकरण दर्ज है, लेकिन वह हर समय पुलिस को चकमा देने में किसी न किसी तरह कामयाब हो जाता था। लेकिन इस बार उसके मुंबई स्थित फ्लैट की पूरी तरह से घेराबंदी कर उसे गिरफ्तार कर लिया। उसे गिरफ्तार करने वाली टीम को 20 हजार रूपये इनाम दिया जायेगा। अचल के पकड़े जाने के छह महीने पहले इंदौर क्राइम ब्रांच ने उसके पिता रमेश चौरसिया को भी गिरफ्तार किया था। इन पिता-पुत्र का फ्लैट मुंबई की एक बिल्डिंग के 37वें माले पर है, जहां से भागने के लिए इन्होने खुफिया रास्ता भी बनाया हुआ है। इसके पिता रमेश चौरसिया को गिरफ्तार करते समय पुलिस को खुफिया रास्तों की जानकारी लग गयी थी और इसी वजह से इस बार पुलिस उसे गिरफ्तार कर सकी है।