इंदौर में 45 लाख पूराने नोटों के साथ व्यापारी गिरफ्तार

नई दिल्ली ( 25 अप्रैल ): मध्य प्रदेश के राजधानी इंदौर में नोटबंदी के साढ़े पांच महीने बाद पुलिस ने 44.86 लाख रुपये के बंद हो चुके नोटों के साथ यहां 45 वर्षीय एक कारोबारी को गिरफ्तार किया है। पिछले 15 दिनों के भीतर दो अलग-अलग मामलों में कुल एक करोड़ रुपये से ज्यादा मूल्य के 500 और 1000 रुपये के बंद नोट पकड़े जा चुके हैं।


तुकोगंज पुलिस थाना प्रभारी राजकुमार यादव ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर सोमवार की देर रात एक स्कूल के पास गिरफ्तार आरोपी की पहचान जानकी नगर निवासी प्रवीण अग्रवाल (45) के रूप में हुई है। वह पेशे से कारोबारी है। प्रवीण अग्रवाल को जब यहां पकड़ा गया, तब वह मूलत: महाराष्ट्र में पंजीकृत एक महंगी कार चला रहा था।


उन्होंने बताया कि इस कार से 44.86 लाख रुपये मूल्य के 500 और 1000 रपये के बंद नोट बरामद किए गए। शुरूआती पूछताछ में पुलिस को संदेह है कि वह कमीशन पर अप्रचलित मुद्रा बदलवाने के लिए एक व्यक्ति के पास जा रहा था। इस मामले में जांच जारी है। 11 अप्रैल को 64.30 लाख रुपये के साथ चार लोगों गिरफ्तार हो चुके हैं।