एक बार फिर सुनामी ने ढहाया कहर, अबतक 168 की मौत

Photo: Google


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 दिसंबर):
एक बार फिर दुनिया को सुनामी का कहर देखने को मिला है। मरने वालों की तादाद में तेजी से इजाफा हो रहा है और यह करीब 170 के पहुंच गया है। इंडोनेशिया में ज्वालामुखी के फटने से आई सुनामी के चलते अबतक 168 लोगों की मौत हो गई है, वहीं 600 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं।

Photo: Google

इंडोनेशियाई अधिकारियों ने रविवार को जानकारी दी कि क्रैकटो ज्वालामुखी के 'चाइल्ड' कहने जाने वाले अनक ज्वालामुखी के फटने से संभवतः यह सुनामी आई है। जावा के दक्षिणी छोर और दक्षिणी सुमात्रा के तटों पर आई सुनामी की लहरों से दर्जनों इमारतें तबाह हो गई है। नेशनल डिज़ास्टर एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुर्वो नुग्रोहो ने बताया कि सुनामी स्थानीय समयानुसार शनिवार रात करीब 9:30 बजे आई। प्रवक्ता ने कहा कि अबतक कम से कम 168 लोगों की मौत हुई है, जबकि 600 से ज्यादा लोग घयाल हुए हैं, जबकि कई लोग लापता हैं।

Photo: Google

इंडोनेशिया की आपदा शमन एजेंसी के मुताबिक सुंडा स्ट्रेट के तटीय क्षेत्रों में आई जिसमें बांटेन प्रांत के पांडेगलांग एवं सेरांग जिले और लाम्पुंग प्रांत के दक्षिण लाम्पुंग शामिल हैं। अधिकारियों ने कहा कि पानी के नीचे भूस्खलन से अनाक क्रेकटाऊ ज्वालामुखी विस्फोट के कारण लहरें पैदा होने की आशंका है। इंडोनेशियाई नेशनल बोर्ड फॉर डिजास्टर मैनेजमेंट के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुतोपो पुरवो नुगरोहो ने एक ट्वीट में कहा, 'सुनामी का कारण भूकंप नहीं है लेकिन एक पानी के नीचे भूस्खलन से माउंट अनाक क्रैकटाऊ ज्वालामुखी विस्फोट होने की आशंका है।'

उन्होंने आगे कहा कि साथ ही पूर्णिमा के कारण ज्वार की लहरे उठ सकती है। उन्होंने मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई।

Photo: Google

आपको बात दें कि इंडोनेशिया में सितंबर के आखिर में भी भूकंप व सुनामी से भारी तबाही हुई थी। सुलावेसी द्वीप में हुई इस त्रासदी में 1400 से अधिक लोगों की मौत हो गई। वहां माउंट सोपुतन नाम का ज्‍वालामुखी भी फटा था, जिसकी राख आसमान में 6,000 मीटर (19,700) तक उठी थी। बड़ी संख्‍या में लोगों की मौत के बाद वहां शवों को दफनाने के लिए सामूहिक कब्र खोदी गई थी।