पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत और अमेरिका के संबंध मधुर हुए: अमेरिकी अधिकारी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 मार्च): अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन के एक अधिकारी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में भारत और अमेरिका के बीच मधुर संबंध विकसित हुए हैं। उन्होंने आशा जताई कि लोकसभा चुनाव के बाद भी संबंधों में और सुधार होने की उम्मीद है। नाम न बताने के अनुरोध पर वरिष्ठ अधिकारी ने यह भी कहा कि पिछले साल नई दिल्ली में आयोजित पहली भारत-अमेरिका 'टू प्लस टू वार्ता' ने हमारे संबंधों को आगे बढ़ाया।

मोदी सरकार के पांच साल और हाल ही में भारत के विदेश सचिव विजय गोखले की अमेरिका की यात्रा पर किए गए एक सवाल के जवाब में अधिकारी ने कहा कि, "जबसे मोदी ने सत्ता संभाली है तब से भारत-अमेरिका का संबंध वास्तव में फला-फूला है।" विशेष रूप से मैं यह कहूंगा कि जून 2017 में प्रधानमंत्री मोदी की व्हाइट हाउस यात्रा से हमारे रिश्तों में बहुत प्रगति हुई थी। मैं सिर्फ यह कहूंगा कि विदेश सचिव गोखले द्वारा किया गया दौरा सिर्फ संबंधों को सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ाने के लिए नवीनतम प्रयास हैं।"वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस चुनाव में चाहें जो कोई भी चुना जाए हम उनके साथ भारत-अमेरिका के संबंधों को नया आयाम देंगे। इसमें भारत-अमेरिका के रणनीतिक हित भी शामिल हैं। अधिकारी ने कहा कि अमेरिका को उम्मीद है कि इसमें सुधार जारी रहेगा और दोनों देश विशेष रूप से भारत- प्रशांत (इंडो-पैसेफिक) क्षेत्र में रणनीतिक सहयोग के रास्ते पर चलेंगे।

गत सप्ताह अमेरिका की तीन दिवसीय यात्रा के दौरान गोखले ने विदेश विभाग से महत्वपूर्ण विचार विमर्श और सामरिक सुरक्षा को लेकर बातचीत की थी। इस दौरान व्यापक द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा की गई। वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘उन्होंने हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए हमारी साझा दूरदृष्टि, रक्षा और सुरक्षा सहयोग मजबूत करने के रास्तों के बारे में चर्चा की। जाहिर तौर पर उन्होंने अफगानिस्तान के साथ-साथ भारत-पाकिस्तान की स्थिति पर भी चर्चा की।