भारत-पाक तनाव: दूसरों को फायदा उठाने का मौका!

नई दिल्ली(18 अक्टूबर): भारत-पाक तनाव बढ़ने से पाकिस्तान का कपड़ा क्षेत्र बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है और क्यों कि यहां के व्यापारी ‘राष्ट्रीय एकजुटता’ दिखाने के नाम पर भारत से कपास की खरीद नहीं कर रहे हैं। इसका असर देश के 82.2 करोड़ डॉलर के कपास उद्योग पर पड़ रहा है। दोनों ओर के व्यापारी भविष्य की अनिश्चितताओं के कारण नये सौदे नहीं कर रहे हैं।

- पाकिस्तान के कपास आयुक्त खालिद अब्दुल्ला ने कहा कि अभी भारत के साथ कपास का व्यापार अभी भी हो रहा है लेकि इसकी मात्रा बहुत कम है। पाकिस्तान सरकार ने आयातकों को भारत से खरीद रोकने को नहीं कहा है पर इनमें से कई खुद राष्ट्रीय एकुटता के नाम पर खरीद नहीं कर रहे हैं।

- पाकिस्तान के बुनकर भारतीय कपास के सबसे बड़े खरीदार हैं। इस वर्ष पाकिस्तान से कम आयात के कारण भारतीय निर्यात प्रभावित हो सकता है, पाकिस्तान में कपास की कीमतें बढ़ सकतीहै और ब्राजील, अमेरिका और कुछ अफ्रीकी देशों के कपास निर्यातकों को फायदा हो सकता है जो भारत के प्रतिस्पर्धी हैं।